गुरुग्राम नमाज विवाद : मुस्लिम संगठनों का फैसला 18 जगह जुमे की नमाज अदा करेंगे

December 7th, 2021

हाईलाइट

  • बाधा से निपटेंगे मुस्लिम संगठन

डिजिटल डेस्क, गुरुग्राम। गुरुग्राम में खुले स्थानों पर जुमे की नमाज आयोजित करने के सिलसिले में मुस्लिम नेशनल फोरम और गुरुग्राम इमाम संगठन के मौलवियों ने सोमवार को जिला प्रशासन को सौंपे गए ज्ञापन में फैसला किया कि जुमे की नमाज मस्जिद, मदरसा और वक्फ बोर्ड की जमीन पर 12 जगहों पर आयोजित किया जाएगा जबकि अस्थायी तौर पर छह जगहों पर कुछ दिनों के लिए प्रशासन द्वारा तय रखरखाव शुल्क का भुगतान कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अगर कोई बाधा डालता है तो मुस्लिम नेशनल फोरम और इमाम संगठन उससे निपटेंगे। नामित 12 स्थानों में जामा मस्जिद सदर बाजार, राजीव चौक, पटौदी चौक मस्जिद, सेक्टर-57 मस्जिद, ग्राम चौमा, शीतला कॉलोनी, शांति नगर, अतुल कटारिया चौक, देवीलाल कॉलोनी, सराय अलवर्दी मस्जिद, बादशाहपुर और दरबारीपुर रोड-बादशाहपुर शामिल हैं।

इमाम संगठन ने उपायुक्त को अपने ज्ञापन में कहा कि वह गुरुग्राम में शांति और सद्भाव सुनिश्चित करना चाहता है और मामले में राजनीति को रोकना चाहता है। इमाम संगठन ने कहा हमने तय किया है कि 20 जगहों पर जुमे की नमाज नहीं अदा की जाएगी। प्रशासन द्वारा निर्धारित रखरखाव शुल्क का भुगतान कर कुछ दिनों के लिए जुमे की नमाज अदा करने के लिए हमें अस्थायी आधार पर छह जगहों की जरूरत थी। संगठन इसके दस्तावेज भी जमा करेगा।

मुस्लिम नेशनल फोरम के संयोजक खुर्शीद रजाका ने आईएएनएस से कहा हमने प्रशासन से मस्जिदों, मदरसों और वक्फ बोर्ड की जमीन पर से अतिक्रमण हटाने की अपील की है ताकि नमाज शांतिपूर्ण तरीके से अदा की जा सके। उधर संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति भी जिला प्रशासन के साथ बातचीत में लगी हुई थी। जिसमें मांग की गई थी कि मुसलमानों को मुस्लिम बहुल पड़ोस के बाहर खुले में नमाज पढ़ने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

एक दक्षिणपंथी समूह के सदस्य राजीव मित्तल ने आईएएनएस को बताया कि संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति और गुरुग्राम इमाम संगठन ने जिला प्रशासन के साथ बैठक में तय किया है कि जुमे की नमाज 12 जगहों पर होगी जबकि अस्थायी तौर पर छह जगहों पर जुमे की नमाज भी तय की गई और रखरखाव शुल्क अदा कर दी जाएगी।

 

(आईएएनएस)