• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Delhi police head constable rattan lal family members protest demanding martyr status for him sikar rajasthan

दैनिक भास्कर हिंदी: Delhi Riots: हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल को शहीद का दर्जा देने की मांग, धरने पर बैठा परिवार

February 26th, 2020

डिजिटल डेस्क, सीकर। दिल्ली में हुई हिंसा में मारे गए पुलिस कॉन्स्टेबल रतन लाल (Police Constable Rattan Lal) के परिजन धरने पर बैठ गए हैं। परिवार ने मांग की है कि रतन लाल (Ratan Lal) को शहीद (Martyr) का दर्जा दिया जाए। दिल्ली के भजनपुरा (Bhajanpura) में हुई हिंसा में रतन लाल (Ratan Lal) की मौत हो गई थी। कॉन्स्टेबल रतन लाल राजस्थान के सीकर (Sikar) के रहने वाले थे। आज (बुधवार) उनके परिवार ने गांव जाने वाले रोड पर जाम लगा दिया। 

सीकर जाने वाली सड़क पर रतन लाल (Ratan Lal) के परिजन ने तीन किलोमीटर का रास्ता रोक दिया है। परिवार का कहना है जबतक रतन लाल को शहीद का दर्जा नहीं मिलेगा, वो अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। रतन लाल का पैतृक गांव फतेहपुर शेखावाटी के तिहावली में है। जहां परिवार के साथ गांववाले भी धरना दे रहे हैं। राजस्थान पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी धरने वाली जगह पर पहुंच गए हैं। वह परिवार को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस ने परिवार से धरना स्थल से हट जाने और रतनलाल (Ratan Lal) का अंतिम संस्कार करने की अपील की है। 

सुरक्षित रास्ता देने का निर्देश
दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में हुई हिंसा में घायलों के लिए सुरक्षित रास्ता देने की मांग करने वाली याचिका पर आधी रात को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi HighCourt) के न्यायाधीशों जस्टिस एस. मुरलीधर और अनूप जे. भम्भानी ने सुनवाई की। आधी रात 12.30 बजे न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर के आवास पर मीटिंग हुई। पीठ ने दिल्ली पुलिस को सभी संसाधनों को उपलब्ध कराके घायलों के लिए सुरक्षित मार्ग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है, साथ ही उन्हें तत्काल इमरजेंसी उपचार मिलना सुनिश्चित कराने के लिए भी कहा। अदालत ने दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया है कि वह अनुपालन के संबंध में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे, जिसमें घायल लोगों के बारे में जानकारी और उन्हें दिए जाने वाले उपचार शामिल हैं। 

Delhi Burning: पुलिस पर गोलियां चलाने वाला शाहरुख किया गया गिरफ्तार

एनएसए अजीत डोवाल ने देर रात किया दौरा
वहीं भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने देर रात हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा किया। बताया गया है कि एनएसए ने सीलमपुर में स्थिति का जायजा लिया और पुलिस के कई आला अफसरों के साथ बैठक भी की। इस बैठक में पुलिस आयुक्त, संयुक्त पुलिस आयुक्त, उपायुक्त (डीसीपी) समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। डोभाल रात करीब साढ़े 11 बजे सीलमपुर डीसीपी कार्यालय पहुंचे और साढ़े 12 बजे तक बैठक के बाद करीब 8 किलोमीटर का सफर करते हुए सभी हिंसा ग्रस्त इलाकों का दौरा किया। वे भजनपुरा, यमुना विहार समेत कई इलाकों में भी गए। उन्होंने गाड़ी में बैठकर इन इलाकों का दौरा किया। इस बीच हिंसा प्रभवित इलाकों में प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया है।