दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर मेट्रो प्रकल्प के विस्तार में पांढुर्ना को जोडऩे की मांग

November 20th, 2020

333.60 करोड़ लागत की इस कार्ययोजना में काटोल-नरखेड़ को जोड़ा जाना प्रस्तावित
डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा/पांढुर्ना।
पांढुर्ना क्षेत्र से महज 90 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र की उपराजधानी नागपुर में मेट्रो प्रकल्प साकार हो गया है। नागपुर शहर के बाद इस प्रकल्प के चारों दिशाओं में विस्तार को लेकर कार्ययोजना बनाई जा रही है। जिसमें तीन दिशाओं में रामटेक, वर्धा और भंडारा को जोडऩे के अलावा पांढुर्ना की दिशा में काटोल और नरखेड़ को भी जोड़े जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस स्थिति में काटोल-नरखेड़ के साथ-साथ महज 20 किमी दूर पांढुर्ना को भी इस मेगा प्रोजेक्ट में शामिल कर नागपुर मेट्रो का लाभ प्रदान करने की मांग उठने लगी है।शुक्रवार को इस मेगा प्रोजेक्ट की कार्ययोजना सामने आने के बाद स्थानीय बुद्धिजीवियों ने पांढुर्ना को नागपुर मेट्रो प्रकल्प से जोड़े जाने के बाद इससे होने वाले फायदों पर चर्चा कीं। बुद्धिजीवियों ने कहा कि मेट्रो यह बेहतर भविष्य की योजना है, इससे पांढुर्ना का जुडऩा भविष्य में फायदेमंद साबित हो सकता है। नागपुर मेट्रो ने प्रकल्प के विस्तार के तहत काटोल और नरखेड़ को जोडऩा की कार्ययोजना बनाई है, इससे महज 20 किलोमीटर दूर पांढुर्ना को भी जोड़ा जाना चाहिए। बुद्धिजीवियों ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से नागपुर मेट्रो के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी से इस संबंध में मांग करने पर विचार किया है।
333.60 करोड़ की बनी कार्ययोजना
बताया जा रहा है कि नागपुर मेट्रो प्रकल्प के विस्तार की यह कार्ययोजना 333.60 करोड़ रूपए की है। जिसमें रामटेक तक 41.6, वर्धा तक 78.8 और भंडारा तक 62.7 किमी के अलावा काटोल-नरखेड़ की ओर 85.53 किलोमीटर का रूट जोडऩे का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसके लिए ब्राडगेज रेल रूट तैयार होगा और इस पर वातानुकूलित मेट्रो ट्रेन दौड़ेगी। जिससे नागपुर तक के आवागमन में सुविधा बढ़ेगी।
 

खबरें और भी हैं...