दैनिक भास्कर हिंदी: दम घुटने से हुई थी डॉ. शीतल की मृत्यु : एसपी

December 30th, 2020

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। प्रख्यात समाजसेवी स्व. बाबा आमटे की पोती एवं वरोरा के आनंदवन स्थित महारोगी सेवा समिति की सीईओ डॉ. शीतल आमटे-करजगी की मृत्यु  के ठीक 30 दिन बाद जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे ने पत्र परिषद लेकर उनके पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डॉ. शीतल की मृत्यु दम घुटने के कारण हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस को अब भी फॉरेंसिक व साइबर रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बगैर पुलिस उनकी मृत्यु की वजह को लेकर किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकती। गौरतलब है कि आनंदवन में डा. शीतल ने 30 नवंबर की सुबह जहरीला इंजेक्शन लगाकर खुदकुशी कर ली थी। एसपी सालवे ने आगे बताया कि डॉ. शीतल गत ६ माह से नागपुर के मनोचिकित्सक के पास अपना इलाज करवा रहीं थीं।

 जून माह में भी उन्होंने नागपुर में नींद की गोलियां खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था। उस समय उन्हें नागपुर के एक निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। जांच में पता चला है कि २१ नवंबर को उन्होंने अपने नियमित फार्मासिस्ट से लेथल इंजेक्शन के बारे में पूछताछ की और कुछ कुत्तों को अल्सर के कारण इंजेक्शन लगाना है, यह कहकर  27 नवंबर को ३ प्रकार के १५ जहरीले इंजेक्शन मंगवाए थे। जांच में न्यूकोरॉन इंजेक्शन का फूटा हुआ एम्प्युल और उपयोग में लायी गई सीरिंज भी बरामद की गई। लेकिन कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ था। उनके दायें हाथ पर इंजेक्शन के निशान भी मिले हैं। अब तक 26 गवाहों के बयान दर्ज किए गए हैं तथा घटनास्थल से मिले मोबाइल, लैपटॉप व अन्य इलेक्टॉनिक सामग्री मुंबई के साइबर एक्सपर्ट के पास भेजा गया है। विसेरा व अन्य तत्व भी रासायनिक परीक्षण के लिए चंद्रपुर एवं नागपुर के लैब में भेजा गया है जिनकी रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है।