comScore

190 टन क्षमता के डंपर व एक हाईड्रोलिक शोवेल का हुआ ई-ट्रायल रन

190 टन क्षमता के डंपर व एक हाईड्रोलिक शोवेल का हुआ ई-ट्रायल रन

-एनसीएल के बेड़े 5 बड़ी मशीनरी और जुड़ीं, लक्ष्य प्राप्त करने में मिलेगी मदद एनसीएल-02 फोल्डर से 
डिजिटल डेस्क  सिंगरौली (वैढऩ)।
एनसीएल में गुरुवार को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से चार 190 टन क्षमता के डंपर व एक 10.9 क्यूबिक मीटर की हाईड्रोलिक शोवल का ई-ट्रायल रन हुआ। जिसमें अमलोरी एवं जयंत से 2.2 डंपर व दुधिचुआ से 1 शावेल शामिल था। वीडियो कॉफ्रेंसिंग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में एनसीएल मुख्यालय से सीएमडी प्रभात कुमार सिन्हा सहित एनसीएल के सभी कार्यकारी निदेशक एवं मुख्य सतर्कता अधिकारी ने इस ट्रायल रन का अवलोकन किया। इस अवसर पर सीएमडी एनसीएल श्री सिन्हा ने कहा कि नई मशीनों के आने से कोयला उत्पादन के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी। साथ ही जरूरी श्रमशक्ति की भर्ती प्रक्रिया भी जारी है। जिसे वर्तमान समय के दृष्टिगत सरकारी दिशा-निर्देश का पालन करते हुए पूरा किया जाएगा। मशीनीकृत कोयला लोडिंग व प्रेषण पर भी हमारी कंपनी भारी निवेश कर रही है। बढ़ते उत्पादन के साथ सड़क  परिवहन को क्रमिक रूप से कम करते हुए प्रदूषण को न्यूनतम स्तर पर लाने को एनसीएल एक वृहद योजना पर काम कर रही है। निदेशक तकनीकी संचालन गुणाधर पांडेय ने इस अवसर पर कहाकि एनसीएल एक मशीनीकृत कंपनी है। कोविड महामारी के बावजूद भी एनसीएल अच्छा प्रदर्शन कर रही है। चालू वित्तीय वर्ष में एनसीएल ने अपने डिपार्टमेन्टल अतिभार हटाव में शानदार प्रदर्शन किया है। 
सभी सुरक्षा सुविधाओं से लैश
गौरतलब है कि आधुनिक तकनीक से युक्त इन नए भारी डंपरों में सभी सुरक्षा सुविधाओं जैसे ऑटो फायर सप्रेशन सिस्टम, आडियो विजुअल, रिवर्स अलार्म, पे लोड मॉनिटरिंग सिस्टम उपलब्ध है। जिनका भविष्य में मुख्यत: अधिभार हटाने में उपयोग किया जाएगा। दुधिचुआ में भी एक हाईड्रोलिक शोवेल का ट्रायल रन किया गया, जिसकी क्षमता एक बार में 10.9 क्यूबिक मीटर भार उठाने की है व 976 हॉर्स पावर के इंजिन से संचालित है। यह मशीन बेहद ही आधुनिक व उपयोगी है। एनसीएल के बढ़ते उत्पादन के साथ भविष्य में लागतार भारी एवं आधुनिक मशीनों के तैनाती से कंपनी सुरक्षा मानकों के साथ उत्पादन एवं उत्पादकता के सभी पैमानो पर खरी उतरेगी। 
एनसीएल के स्वनिर्मित 2 एप का दिखाया गया डेमो 
आज के इस डिजिटल युग में एनसीएल ने भी अपने कर्मियों व हितधारकों के लिए एप आधारित सेवाओं की शुरूआत कर रही है। इस क्रम में कंपनी के सिस्टम विभाग के द्वारा दो एप का प्राथमिक डेमो दिया गया। पहला एप एनसीएल कर्मियों के लिए बनाया गया है जिसके जरिये वे अपनी समस्याओं को दर्ज करा सकेंगे व सक्षम स्तर से संतोषजनक जवाब पा सकेंगे। जिसको भविष्य में अन्य हितधारकों के लिए भी विस्तारित करने की योजना है। दूसरे एप के माध्यम से कंपनी के विभिन्न कार्यस्थलों पर लगे हुए कैमरों को पर्सनल मोबाइल पर देखा जा सकेगा, जो सुरक्षा की दिशा में कारगर साबित हो सकता है।
 

कमेंट करें
YKG7R