• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Explosion in Morena's firecracker warehouse, the entire building collapsed in the blast, half a dozen people buried in the rubble

मुरैना हादसा: मुरैना के पटाखा गोदाम में विस्फोट, धमाके में पूरी इमारत हुई धराशाई, 4 लोगों की मौत , 7 घायल

October 20th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुरैना। मध्यप्रदेश के मुरैना में आज 11 बजकर 15 मिनट पर पटाखे के गौदाम में अचानक विस्फोट हो गया। धमाका इतना बड़ा था कि पूरी इमारत जमींदोज हो गई। इस हादसे में 4 लोगों की मौत व 7 लोगों के जख्मी होने की जानकारी सामने आई है। घटना शहर के बानमौर नगर में जैतपुर रोड की है। यहां पटाखे के गोदाम में विस्फोट होने से पूरी इमारत धरासाई हो गई। बताया जा रहा है कि यह गोदाम बानमौर निवासी व्यवसायी निर्मल जैन का है। इस इमारत पटाखों का गोदाम होने के अलावा किराएदार भी रह रहे थे। हादसे की सूचना मिलने के बाद पुलिस-प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंच गई है और स्थानीय लोगों की सहायता से मलबे में दबे हुए लोगों को निकालने की कोशिश में जुट गई है। मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए जेसीबी व अन्य साधनों की सहायता ली जा रही है। 

मध्य प्रदेश  मुरैना के बनमोर थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में बड़ा विस्फोट हो गया। विस्फोट में 4 लोगों की मौत बताई जा रही है। साथ ही कई लोगों के मलबे में भी दबे होने की आशंका है। सूचना मिलते ही मदद करने के लिए विस्फोटक स्थल पर जिला प्रशासन पहुंच गया है। प्रशासन ने घायल युवकों को जिला चिकित्सालय ग्वालियर और मुरैना रैफर किया गया है।  मुरैना डीएम बी. कार्तिकेयन तत्काल हादसे वाले स्थान पर पहुंचे, उन्होंने 
 घायलों को तुरंत सुरैक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर कार्तिकेयन ने  मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि मलबे में दबे एक बच्चे को बचा लिया है।

विस्फोटक में आग लगने से हुआ हादसा

बताया जा रहा है कि पटाखा बनाने के लिए गोदाम में विस्फोटकों का स्टॉक बाहर से लाकर रखा गया था। गोदाम के अंदर पटाखों की पैकिंग करने के साथ ही कुछ लोग पटाखे भी बना रहे थे। इस विस्फोटक में आग लगने की वजह से यह हादसा हुआ। विस्फोट इतना जोरदार था कि इमारत के आसपास के घरों की दीवारें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। विस्फोट होने के बाद चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल बन गया। मलबे में अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है। प्रशासन द्वारा बड़े स्तर पर रेसक्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। हादसे में गंभीर रुप से घायल हुए लोगों को मुरैना अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हादसे में एक 9 साल की बच्ची भी मलबे में दबी से जिसे बाहर निकालकर इलाज के लिए मुरैना भेजा गया है। अभी तक 7 लोगों को मलबे से निकाला गया है। कलेक्टर बी कार्तिकेय, एसपी आशुतोष बागरी, मुरैना विधायक राकेश मावई घटनास्थल पर मौजूद हैं।

पेटलावद हादसे की याद ताजा हुई

इस हादसे ने झाबुआ के पेटलावद में हुए हादसे की याद दिला दी। गौरतलब है कि 12 सितंबर 2015 को झाबुआ जिले के पेटलावद में जिलेटिन छड़ों के गोदाम में विस्फोट हुआ था। इस हादसे में 73 लोगों की जान चलीं गईं थीं जबकि 70 से अधिक लोग घायल हो गए थे। विस्फोट इतना तेज था कि इसके धमाके की आवाज 11 किलोमीटर दूर तक सुनाई दी थी। इस विस्फोट में गोदाम के आसपास बने 3 मकान पूरी तरह धरासाई हो गए थे।