दैनिक भास्कर हिंदी: खुले प्वाइंट पर दौड़ गई मालगाड़ी, इंजन सहित पांच डिब्बे डिरेल - कोयला परिवहन लडख़ड़ाया

October 25th, 2019

डिजिटल डेस्क सिंगरौली (मोरवा)। करैला रोड जंक्शन-शक्तिनगर रेलखंड पर कृष्णशिला रेलवे स्टेशन पर अलसुबह एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। जिसमें अनपरा थरमल पावर स्टेशन की मालगाड़ी अपने ही यार्ड में ओवरसूइट कर गई। आगे खुला प्वाइंट होने के कारण मालगाड़ी का इंजन और चार डिब्बे एक के बाद एक पटरी से उतरते चले गये। इस दौरान डिब्बों के एक्सल व पाटर््स टूट गये और उनकी चपेट में आकर लम्बी दूरी तक आरसीसी स्लीपर्स टूटते और उखड़ते चले गये। गनीमत रही की मालगाड़ी खाली थी और यह एटीपीएस से अपने कोलयार्ड कृष्णशिला जा रही थी जो शंटिंग लाइन पर थी। मेन लाइन पर होने से एक बड़ी दुर्घटना हो सकती थी, इस दुर्घटना से एटीपीएस प्रबंधन को करोड़ों का नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। देर रात तक मालगाड़ी को उठाने का प्रयास जारी था लेकिन शाम 6 बजे तक सिर्फ इंजन को ही रिरेल किया जा सका था। घटना की जानकारी देते हुए सूत्रों ने बताया कि इस मालगाड़ी को अनपर पावर स्टेशन का लोको पायलट चला रहा था और अपनी ही साइडिंग में जाना था। तेज रफ्तार होने के कारण लोको पायलट सिग्नल को नहीं देख पाया और रेड सिग्नल पार कर गया। इस लाइन में रेड सिग्नल होने के कारण एक के बाद एक दो प्वाइंट्स खुले थे। जैसे ही इंजन इन प्वाइंट्स को टच किया वह बेपटरी हो गया। उससे जुड़े पीछे के पांच डिब्बे भी पलटते चले गये। दुर्घटना की जानकारी का जायजा लेने पहुंचे एटीपीएस के महाप्रबंधक व अन्य आला अधिकारियों ने मामले पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। बड़ी लापरवाही से अनपरा थर्मल पावर स्टेशन को भारी चपत लगी है। 
देर शाम तक नहीं उठाया जा सका इंजन
घटना के बाद एटीपीएस प्रबंधन ने रेलवे अधिकारियों को सूचित करते हुए एआरटी की मांग की। चोपन से पहुंची एआरटी शाम 6 बजे तक एक बे्रकवान और दो वैगेन ही उठा सकी थी। जबकि अन्य वैगेन और इंजन को उठाने लिए बरवाडीह से क्रेन मांगी गयी थी जो समाचार लिखे जाने तक नहीं पहुंच पायी, जिसके उपरांत एटीपीएस प्रबंधन ने बाई रोड हैवी क्रेन मंगाकर इंजन को उठाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी।
लडखड़़ाया कोयला परिवहन
एटीपीएस प्रबंधन अपनी इस निजी कोल साइडिंग से हर दिन 3 से 5 रैक कोयला परिवहन करता है। सुबह से लेकर देर शाम 7 बजे तक एक भी रैक नहीं लोड की जा सकी। इंजन और वैगेन को पटरी पर लाने के उपरांत ट्रैक की मरम्मत कार्य उपरांत शुक्रवार की सुबह तक इस पर कोयला परिवहन चालू होने की उम्मीद जताई जा रही थी। लापरवाही के कारण हुई दुर्घटना के लिये एटीपीएस प्रबंधन इक्वायरी करेगा। रेल सूत्रों ने कहाकि इस पर रेलवे का कोई इन्वाल्वमेंट नहीं है।
 

खबरें और भी हैं...