दैनिक भास्कर हिंदी: मुठभेड़ में पुलिस ने दो इनामी महिला नक्सलियों को मार गिराया

April 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, भामरागढ़(गड़चिरोली)। भामरागढ़ तहसील के कोठी पुलिस मदद केंद्र के तहत आने वाले गुंडुरवाही-पुलनार पहाड़ी के बीच पुलिस ने दो नक्सलियों को मार गिराया। नक्सलियों द्वारा किए गए भूसुरंग विस्फोट के बाद दोनों ओर से हुई भीषण गोलीबारी में सी-60 के जवानों ने 2 महिला नक्सलियों को ढेर कर दिया। मृत नक्सलियों में नक्सलियों के विभागीय समिति की सदस्य रामको नरोटे (45 ) और भामरागढ़ दलम सदस्या शिल्पा (28 ) है। जवानों ने दोनों मृत नक्सलियों के शवों समेत नक्सलियों की अन्य सामग्री बरामद कर ली है। वहीं इस घटना में पुलिस जवान पूरी तरह सुरक्षित होने की जानकारी विभाग ने दी है। 

इस संदर्भ में मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार की सुबह सी-60 के जवान और अहेरी प्राणहिता के जवान भामरागढ़ तहसील के कोठी पुलिस मदद केंद्र के तहत आने वाले गुंडूरवाही-पुलनार के पहाड़ी इलाकों में नक्सली खोज मुहिम पर तैनात थे। दोपहर 1 बजे के दौरान घने जंगलों में घात लगाए बैठे नक्सलियों ने पुलिस दल की आहट होते ही एक भूसुरंग विस्फोट किया। इस विस्फोट से अपने आप को बचाने का प्रयास करते हुए पुलिस जवानों ने नक्सलियों का डटकर मुकाबला किया। करीब एक घंटे तक दोनों ओर से हुई भीषण गोलीबारी के बाद पुलिस के बढ़ते दबाव को देख नक्सली घने जंगलों में फरार हो गए। जबकि घटना के बाद घटनास्थल की जांच करने पर 2 महिला नक्सलियों के शव जवानों ने बरामद किए।

मृत नक्सली रामको नरोटी नक्सलियों के विभागीय समिति की सदस्य थी। उसके खिलाफ  जिले के विभिन्न पुलिस थानों में तकरीबन 45 मामले दर्ज है। वहीं पुलिस विभाग ने उस पर 12 लाख रूपयों का इनाम भी घोषित किया था। जबकि शिल्पा धुर्वा नामक नक्सली भामरागढ़ नक्सल दलम की सदस्य होकर वह भामरागढ़ तहसील के मिरगुडवंचा की निवासी है। उसके खिलाफ भी दर्जनों मामले पुलिस थानों में दर्ज है। घटना के बाद जिला पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे के मार्गदर्शन में विशेष हेलिकाप्टर को घटनास्थल की ओर रवाना किया गया।  

इधर एटापल्ली में नक्सलियों ने फूंका वनविभाग का लकड़ी डिपो 
कसनासुर-बोरिया घटना का तीव्र विरोध जताते हुए नक्सलियों ने  एटापल्ली तहसील के ताटीगुड़म स्थित वनविभाग के लकड़ी डिपो को आग के हवाले कर दिया। आगजनी की इस घटना में वनविभाग का तकरीबन 1 लाख 16  हजार 400 रुपए का नुकसान होने की जानकारी मिली है। बता दें कि, कसनासुर-बोरिया की घटना में सी-60 के जवानों ने एक साथ 40 नक्सलियों को ढेर कर दिया था। घटना को एक वर्ष की कालावधि पूर्ण होते ही नक्सलियों फिर एक बार क्षेत्र में उधम मचाना शुरू कर दिया है। दर्जनों की संख्या में पहुंचे नक्सलियों ने ताटीगुड़म के लकड़ा डिपो में प्रवेश किया व डिपो में रखी विभिन्न प्रजातियों की लकड़ियों को आग के हवाले कर दिया।