comScore

छिंदवाड़ा में बह रही विकास की गंगा -फूड प्रोसेसिंग यूनिट, फर्टीलाइजर फैक्ट्री खोलने की तैयारी

छिंदवाड़ा में बह रही विकास की गंगा -फूड प्रोसेसिंग यूनिट, फर्टीलाइजर फैक्ट्री खोलने की तैयारी

प्रशासन ने गाजनडोह में किया जमीन का आवंटन, एकेवीएन करेगा डेवलपमेंट, परासिया के अन्य क्षेत्रों में भी लगेगी औद्योगिक इकाईयां  
डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। औद्योगिक विस्तार के तहत छिंदवाड़ा के बाद अब परासिया में खाली पड़ी जमीनों पर नई यूनिटों को लाने की तैयारी शुरु की गई है। प्रशासनिक अधिकारियों ने दो बड़ी यूनिटों के लिए परासिया में जमीन आवंटित की प्रक्रिया को पूरा कर लिया है। यहां एकेवीएन(औद्योगिक केंद्रीय विकास निगम) को जमीन आवंटित की है। लहगड़ुआ की तरह ही एकेवीएन इन दो क्षेत्रों में औद्योगिक विकास करेगा। बताया जा रहा है कि गुरुवार को छिंदवाड़ा आए मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांसद नकुलनाथ ने इन दो प्रोजेक्टों पर अधिकारियों से सीधी चर्चा की। जमीन आवंटन की प्रक्रिया के बाद एकेवीएन इन क्षेत्रों के डेवलपमेंट का डीपीआर तैयार करेगा। सड़क, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के विस्तार के लिए शासन को निश्चित बजट का डीपीआर तैयार करके देगा।  इस डीपीआर के सेंक्शन होने के बाद यहां औद्योगिक विकास शुरु होगा।  
दो बड़ी औद्योगिक यूनिटों को लाने की तैयारी
फूड प्रोसेसिंग यूनिट गाजनडोह में प्रशासनिक अधिकारियों ने 6 एकड़ जमीन आवंटित कर दी है। यहां फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाए जाएंगे। जिसकी तमाम तैयारियां हो चुकी है। इस यूनिट के लगने से क्षेत्र के किसानों को बड़ा फायदा मिलेगा। उन्हें अपनी फसल का अच्छा दाम मिलेगा।
फर्टीलाइजर फैक्ट्री
सोनपिपरी में फर्टीलाइजर फैक्ट्री के लिए जमीन आवंटन की प्रक्रिया जारी है। यहां अधिकारियों ने 15 एकड़ जमीन चिन्हित की है। जिसकी अधिकतम प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है। जल्द ये चिन्हित जमीन भी फर्टीलाइजर  फैक्ट्री के लिए आवंटित कर दी जाएगी।
ये होगा फायदा
- दो बड़ी औद्योगिक इकाईयों के परासिया में आने से 5 हजार से ज्यादा बेरोजगारों को यहां रोजगार मिलेगा। क्षेत्र की आर्थिक प्रगति भी होगी।
- क्षेत्र का औद्योगिक विकास भी होगा। अब तक परासिया की पहचान कोयला तक सीमित थी। अब ये बड़ी दो नई यूनिटें भी यहां आएगी।
प्लॉनिंग में ये भी
भविष्य की प्लॉनिंग के तहत परासिया के ही डोंगरी में 118 एकड़ जमीन आवंटित किए जाने की भी प्लॉनिंग है। यहां पर लघु औद्योगिक इकाईयों के लिए जमीन आवंटन होगा। लेकिन फिलहाल अधिकारियों को इन दो प्रोजेक्टों पर काम करने की हिदायत दी गई है। इन दो प्रोजेक्टों पर काम पूरा होने के बाद लघु औद्योगिक इकाईयों पर काम शुरु होगा।
इनका कहना है....
- इन यूनिटों के परासिया में आने से क्षेत्र का औद्योगिक विकास होगा। 4 से 5 हजार बेरोजगारों को रोजगार मिल सकेगा।
सोहन वाल्मिक विधायक, परासिया
-  गाजनडोह के लिए जमीन आवंटित की जा चुकी है। सोनपिपरी जमीन आवंटन की प्रक्रिया जारी है। जल्द ही इसे भी सेंक्शन कर दिया जाएगा।
नम: शिवाय अरजरिया एसडीएम, परासिया
 

कमेंट करें
wei6P