comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

गाजियाबाद: पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत, बदमाशों ने मारी थी गोली, अबतक 9 आरोपी गिरफ्तार

गाजियाबाद: पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत, बदमाशों ने मारी थी गोली, अबतक 9 आरोपी गिरफ्तार

हाईलाइट

  • गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत
  • विक्रम ने बदमाशों के खिलाफ दर्ज कराया था छेड़छाड़ का मुकदमा
  • इसके बाद बदमाशों ने पत्रकार के सिर में मारी थी गोली

डिजिटल डेस्क, गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में बदमाशों की गोली से घायल हुए पत्रकार विक्रम जोशी की मंगलवार को अस्पताल में मौत हो गई। सोमवार रात बदमाशों ने पत्रकार को उनकी नाबालिग बेटियों के सामने गोली मारी थी। जिसके बाद विक्रम को नेहरू नगर स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी हालत नाजुक थी। आज सुबह इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। विक्रम के भाई अनिकेत ने मौत के खबर की पुष्टि की है।

दरअसल विक्रम ने कुछ बदमाशों के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी थी। हालांकि इस मामले में पुलिस अबतक 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। पत्रकार विक्रम जोशी के भांजे ने बताया, कमल-उद-दीन के बेटे सहित कुछ लड़के मेरी बहन पर कमेंट करते थे। जिस दिन घटना घटी उस दिन मेरी बहन का जन्मदिन था। कमल-उद-दीन के बेटे ने मेरे मामा के सिर पर रॉड मारी और फिर गोली मारी। हम इंसाफ चाहते हैं।

यूपी पुलिस ने 10 लोगों की सूची जारी की है। जिसमें से तीन आरोपी गिरफ्तार हैं, जबकि 6 को हिरासत में लिया गया है और एक फरार है।

जानकारी के मुताबिक, पत्रकार विक्रम ने अपनी भांजी से हुई छेड़छाड़ और अभद्र कमेंट करने वाले युवकों के खिलाफ विजय नगर थाने में केस दर्ज कराया था, जिसके बाद से आरोपी युवक लगातार धमकी दे रहे थे। मुकदमे के तीन दिन बाद तक उनके खिलाफ पुलिस द्वारा कोई भी कार्रवाई नहीं की गई।

इसी बीच सोमवार रात (21 जुलाई) जब पत्रकार विक्रम अपनी बेटियों के साथ बाइक पर सवार होकर अपनी बहन के घर से लौट रहे थे, विजय नगर इलाके में घात लगाए हमलावरों ने उनका रास्ता रोका और हमला कर दिया। बदमाशों ने बेटियों के सामने ही पत्रकार को गोली मार दी, जिसके बाद जोशी को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गई थी। 

परिजनों का आरोप है, पुलिस ने विक्रम की शिकायत को लेकर लापरवाही बरती। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मामले में लापरवाही बरतने के लिए चौकी इंचार्ज राघवेंद्र को सस्पेंड कर दिया है। वहीं गाजियाबाद पुलिस ने अबतक 9 आरोपियों- रवि, छोटू, मोहित, दलवीर, आकाश, योगेंद्र, अभिषेक हलका, अभिषेक मोटा और शाकिर को गिरफ्तार किया है। अभी भी मुख्य आरोपी की तलाश है। इसके लिए जगह-जगह छापेमारी की जा रही है।

कमेंट करें
V73gw