comScore

दो माह के बच्चे का कटा सिर मिला , कुत्ता मुंह में लेकर घूम रहा था 

दो माह के बच्चे का कटा सिर मिला , कुत्ता मुंह में लेकर घूम रहा था 

डिजिटज डेस्क, छतरपुर। शहर के सटई रोड में शुक्रवार की शाम उस समय सनसनी फैल गई जब करीब 2 माह के शिशु का कटा हुआ सिर कुत्ता लेकर गली में घूम रहा था। मोहल्ला के लोगों ने तत्काल सिविल लाइन थाने को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपनी सुपुर्दगी में लेकर उसके बाकि शव को खोजना शुरू कर दिया। घटना के संबंध में जानकारी मिली कि शुक्रवार को रात करीब साढ़े 8 बजे सटई रोड में गली नंबर तीन में रानू श्रीवास्तव के दरवाजे के सामने एक कुत्ता बच्चे का कटा हुआ सिर लेकर आ गया। इसे वहां मौजूद महिलाओं ने देखा तो हड़कंप मच गया। महिलाओं ने अपने घरों में सूचना दी तो मोहल्ले के लोग इकट्टे हो गए और कुत्ते से बच्चे के सिर को छुड़ा लिया। इसके बाद सिविल लाइन थाने में सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा बनाकर सिर को थैले में रखकर बाकि शव की खोज करना शुरू कर दिया। टीआई ने बताया कि सिर देखकर शिशु की उम्र करीब दो माह प्रतीत होती है। बाकि शव मिलने के बाद पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
 

परिवार के दबाव में बेटी ने बदले बयान

ईशानगर थाना अंतर्गत गहरवार गांव में दस साल की गुड़िया (परिवर्तित नाम) के साथ पिता के द्वारा दुष्कर्म करने की घटना में नया मोड़ आ गया है। घटना के आरोपी पिता ने पुलिस को दिए बयानों में कहा है कि वो गांजे के नशे में अपनी ही बेटी से यह भूल कर बैठा। वहीं पुलिस जब गुड़िया को 164 के बयान दर्ज करवाने के लिए नौगांव मजिस्ट्रेट के पास ले गई, तो उसने कहा कि पिता अक्सर मारपीट करते थे। इसलिए उसने यह शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस के अनुसार बच्ची के मेडिकल में उससे अप्राकृतिक कृत्य होने की पुष्टि हुई है, लेकिन घर वालों के दबाव और लालन-पालन में होने वाली समस्याओं से परेशान होकर उसने बयान बदल लिए हैं।
 

काफी गुमसुम थी गुड़िया

गहरवार गांव में दस साल की गुड़िया ने अपने पिता के द्वारा गलत काम किए जाने की शिकायत गुरुवार को दर्ज कराई थी। गुड़िया दोपहर में 6 किमी पैदल चलकर गहरवार से ईशानगर पहुंची थी। उसके पैरों में चप्पल तक नहीं थीं। वह जब थाने पहुंची तो उसने पुलिसकर्मियों से पूछा- पानी पी लूं। पुलिसकर्मियों ने सोचा कि पास के छात्रावास में पानी की किल्लत है तो बच्ची पानी पीने आई होगी। फिर उसने पुलिसकर्मियों से पूछा कि क्या आप मेरे पापा को जानते हो। पुलिसकर्मी उसे नहीं जानते थे। इस बीच किसी ने पुलिसकर्मियों को पिता के बारे में जानकारी दी। इसके बाद गुड़िया ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी पुलिस को दी। महिला पुलिसकर्मी को गुड़िया ने आपबीती सुनाई। फिर पुलिसकर्मी ऑटो में बेटी को लेकर उसके घर गए और दादी को पूरी घटना की जानकारी दी। उसकी सौतेली मां दो-तीन माह पहले ही घर आई है तो वो कुछ नहीं बोली। दादी ने कहा कि अगर बेटे ने गलत किया है तो उस पर कार्रवाई होना चाहिए। इस पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को उसे जेल भी भेज दिया गया है।

कमेंट करें
ILOnE