दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस के खिलाफ भड़का आक्रोश, दुराचारी कोचिंग संचालक पर क्यों नहीं हो रहीं सख्त कार्रवाई

August 29th, 2019

डिजिटल डेस्क, छतरपुर। शहर में हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने एमएमएस कांड के विरोध में चौक बाजार में जमकर विरोध प्रदर्शन करते हुए चक्काजाम किया। उग्र भीड़ ने पहले बाजार भी बंद कराया। हिंदूवादी संगठनों की मांग थी कि नाबालिग छात्राओं का एमएमएस बनाने वाले आरोपी आरिफ मंसूरी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए और उसके मोबाइल की जांच कराई जाए। इसके साथ ही शहर में संचालित कोचिंग सेंटरों का पुलिस वेरिफिकेशन कराए जाने व शाम 6 बजे के बाद इनका संचालन नहीं किए जाने की मांग की। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि शहर का माहौल सुनियोजित तरीके से खराब किया जा रहा है। पुलिस ऐसे मामलों को दबाने का प्रयास करती है। इसलिए दोषी कड़ी कार्रवाई से बच जाते हैं। यहां सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों को देखते हुए प्रशासन ने यहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया। कार्यकर्ता आरोपी को गधे पर बिठाकर शहर में घुमाने की मांग कर रहे थे।

ये रहे शामिल 

चार घंटे तक चले विरोध प्रदर्शन और आंदोलन के दौरान बजरंगदल के प्रांत संयोजक सत्येंद्र सिंह, विश्व हिंदू परिषद के जिला मंत्री धीरज गुप्ता, सह मंत्री पुष्पेंद्र सिंह परमार, अजय बिदुआ, नगर संयोजक पंकज पिपरैया, अंकित विश्वकर्मा, विवेक शर्मा, नीरज भार्गव, राजू सरदार, अभिषेक पाठक, संदीप सोनी, सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे। 

अब और बर्दाश्त नहीं 

प्रदर्शनकारियों ने  प्रशासन से असमाजिक गतिविधियों में लिप्त कोचिंग संस्थानों और होटल, रेस्टारेंट पर कार्रवाई का मुद्दा उठाया प्रदर्शन 6चौक बाजार में चार घंटे चला हंगामा बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग सेना, शिव सेना, विद्यार्थी परिषद सहित तमाम हिंदूवादी संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता आंदोलन में शामिल रहे। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि कुछ लोग कोचिंग संचालन के नाम पर गलत काम कर रहे हंै। पुलिस व प्रशासन उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं कर रही है। जिससे छात्राओं के जीवन से खिलवाड़ हो रहा है।

हालात बिगड़ते देख एएसपी ने संभाला मोर्चा

उग्र भीड़ द्वारा बाजार बंद कराने और चौक बाजार में चक्काजाम करने के बाद एडीशनल एसपी जयराज कुबेर ने मोर्चा संभाला और प्रदर्शनकारियों को समझाकर मामले को शांत कराया। उन्होंने कहा कि एमएमएस कांड के आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों की उग्रता को देखकर भारी सुरक्षा के बीच आरोपी को अदालत में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।