दैनिक भास्कर हिंदी: जाओं मैंने तुम्हें आजाद किया, रूबी तलाक रूबी तलाक रूबी तलाक  

January 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, सुल्तानपुर। तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के रोक लगाने और लोकसभा में बिल के पास होने के बाद भी इस तरह के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। शनिवार को एसएमएस भेजकर तीन तलाक देने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसाार सऊदी अरब में काम करने वाले व्यक्ति ने अपनी पत्नी को फोन में एसएमएस भेजकर तीन तलाक दे दिया। तलाक देने वाला व्यक्ति उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर के नंदौली का है और पिछले कुछ समय से सऊदी अरब में काम कर रहा है। जबकि उसकी पत्नी यहीं भारत में रहती है।

उसके पति ने उसे भेजे गए एसएमएस में लिखा कि 'रूबी मैं हफीज तुझे आजाद करता हूं। उसने लिखा कि तुम जहां चाहे जाओं मैने तुम्हें आजाद किया। रूबी तलाक रूबी तलाक रूबी तलाक।'

वहीं इस मामले में पीड़िता ने बताया कि मेरे ससुराल वाले मुझे कई दिनों से परेशान कर रहे थे। मुझे दहेज में कार लाने के लिए कहा जाता था। पीड़िता ने बताया कि उसके ससुराल वाले और पति उसके साथ काफी बुरा बर्ताव कर रहे थे। पीड़िता का कहना है कि उसके पति ने उसे एक मैसेज किया जिसमें उसने तलाक दे दिया। उन्होंने बताया कि उसका एक बेटा है और पति द्वारा तलाक देने के बाद उसी के साथ जिंदगी बितानी है और अपने घर रहना है।

बेटी को तलाक मिलने पर पिता ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी की शादी 2 साल पहले की थी। कुछ समय पहले तक सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन फिर बेटी के ससुरालवाले उसे परेशान करने लगे और उसे घर से निकाल दिया। एक दिन उसके पति ने सऊदी अरब से उसे फोन पर मैसेज करके तीन तलाक दे दिया। पिता ने बताया कि अब तलाक हो चुका है और हमने पुलिस से इस मामले में कोई शिकायत नहीं की है। 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के रोक के फैसले के बाद केंद्र सरकार ने लोकसभा में तीन तलाक पर नए कानून बनाने के लिए बिल पेश किया था। लोकसभा में बीजेपी को बहुमत होने के कारण ये बिल पास हो गया। इसके बाद इसे राज्यसभा में भेजा गया जहां पर विपक्ष के विरोध के कारण बिल पास नहीं हो पाया।