comScore

बीमार पति की गला रेतकर महिला ने की हत्या, मुंबई में बुजुर्ग महिला के चार हत्यारे गिरफ्तार

March 22nd, 2019 21:58 IST
बीमार पति की गला रेतकर महिला ने की हत्या, मुंबई में बुजुर्ग महिला के चार हत्यारे गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, सांगली। पति की बीमारी व बीमार पति द्वारा चरित्र पर बार-बार संदेह करने से त्रस्त एक महिला ने गुस्से में पति का गला रेत कर हत्या कर दी। हत्या के बाद घटना को आत्महत्या दर्शाने की कोशिश की गई। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तासगांव के इंदिरानगर की घटना में पुलिस जांच में हत्या की घटना को आत्महत्या दर्शाने की कोशिश करने का मामला सामने आया।  मृत व्यक्ति का नाम कल्लू शिवाजी बागड़ी (40) है। कल्लू को टीबी की बीमारी थी। वह काफी दिनों से बीमार चल रहा था। उसकी पत्नी शाांता उसका इलाज करवा रही थी, लेकिन कल्लू अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था। कल्लू की पत्नी शांता बागड़ी पहले ही उनकी बीमारी से परेशान थी और पति द्वारा बार-बार संदेह करने से गुस्से में आकर उसने उसका गला रेत दिया। बताया जाता है कि गुरुवार की शाम को कल्लू और शांता का किसी बात को लेकर विवाद हुआ। कल्लू ने घर का चाकू उठाया और शांता को धमकी देने लगा कि वह आत्महत्या कर लेगा। पहले तो शांता बाई ने उसकी धमकी को नजर अंदाज किया और दूसरे कमरे में चली गई, लेकिन कल्लू उसके साथ उस कमरे में आकर झगड़ा करने लगा और अपने गले पर चाकू रखकर आत्महत्या करने की धमकी देने लगा। कल्लू इसके पहले भी कई बार आत्महत्या की धमकी दे चुका था इसलिए शांता ने उसे पहले की तरह ही समझाने की कोशिश की, लेकिन जब वह नहीं माना तो शांता का गुस्सा भी सातवे आसमान पर पहुंच गया और  गुस्से में आकर शांता ने खुद उसका गला रेत दिया। घटना में कल्लू की मौके पर ही मौत हो गई। कल्लू की मौत के बाद शांता घबरा गई और मामले को दबाने के लिए पति द्वारा आत्महत्या करने का नाटक करने लगी। पुलिस ने मामले की जांच करते हुए कड़ाई से पूछताछ की तो शांता ने हकीकत बयां की। 

बुजुर्ग महिला की हत्या के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार

‌उधर मुंबई की साहू नगर पुलिस ने 79 वर्षीय बुजुर्ग महिला की लूटपाट के बाद हत्या करने के मामले में एक महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। छानबीन में खुलासा हुआ है कि लूटपाट की वारदात को उसी इलाके में रहने वाले एक दंपति ने अपने दो और साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया। वसंता अय्यर नाम की जिस बुजुर्ग की हत्या हुई वे दो आरोपियों अकबर अमीर शेख और उसकी पत्नी समीरा को पहचानती थी। इसलिए वारदात की रात दोनों आसानी से उनके घर में दाखिल हो गए। इसके बाद उन्होंने मोहम्मद हसन अली और मोहम्मद ऐनुल हक नाम के दो और आरोपियों के साथ मिलकर अय्यर के घर लूटपाट की और गला दबाकर उनकी हत्या कर दी। वारदात के बाद दोनों आरोपी फरार थे इसलिए पुलिस को उन पर शक हुआ। आरोपियों का दावा है कि उन पर काफी कर्ज था जिसे उतारने के लिए उन्होंने बुजुर्ग महिला की हत्या और लूटपाट की साजिश रची थी। संपत्ति को लेकर हुए विवाद के बाद एक शख्स ने अपने 60 वर्षीय पिता की हत्या कर दी। घटना चेंबूर के वाशीनाका इलाके में हुई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। कैटरिंग के व्यवसाय से जुड़े रहमतुल्ला सैयद (60) अपनी दूसरी पत्नी के साथ रहते थे। संपत्ति को लेकर उनका अपनी पहली पत्नी से पैदा हुए बेटे मोहम्मद कादर के साथ अक्सर विवाद होता रहता था। संपत्ति को लेकर ही बातचीत करने कादर अपने पिता के घर पहुंचा जहां दोनों के बीच नोंकझोंक हुई। इससे नाराज कादर ने अपने पिता पर हमला कर दिया। पहले लातघूंसो से पिटाई के बाद उसने अपने बुजुर्ग पिता की गला घोंटकर हत्या कर दी। कादर की पत्नी मुमताज सैयद ने मामले की शिकायत आरसीएफ पुलिस स्टेशन में की जिसके बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मुंबई के भायखला इलाके में अशरफ कादर नाखवा (65) नाम के बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। पुलिस के मुताबिक डाकयार्ड रोड के नया नगर इलाके में 23 वर्षीय आरोपी का किसी बात को लेकर नाखवा से विवाद शुरू हुआ जिसके बाद आरोपी ने पास पड़ा पत्थर उनके सिर पर दे मारा जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। भायखला पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 

हत्या को हादसे का रुप देने वाला ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार

उधर चार साल पहले एक साइकल सवार की सड़क हादसे की गुत्थी सुलझाने में जुटी मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने छानबीन में पाया कि यह हादसा नहीं बल्कि हत्या है। इसके बाद पुलिस ने उस ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया जिसने सुपारी लेकर साइकल सवार को टक्कर मारी थी। जांच में खुलासा हुआ है कि मृतक के पार्टनर ने विवाद के चलते उसकी हत्या करवाई थी। मामले में पुलिस ने अमोल पासोबा नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। डीसीपी दिलीप सावंत ने बताया कि अपराध शाखा पिछले पांच सालों से अनसुलझे गंभीर मामलों का अध्ययन कर रही है। इसी दौरान 14 जनवरी 2014 को वडाला टीटी पुलिस स्टेशन में दर्ज एक मामले पर नजर गई। इस मामले में सड़क हादसे में इकबाल खान (40) नाम के शख्स की मौत हुई थी। साइकल पर सवार खान को सायन के चुनाभट्टी इलाके में अज्ञात वाहन ने कुचल दिया था जिससे उनकी जान चली गई थी। काफी छानबीन के बाद भी गाड़ी का पता नहीं चला जिसके बाद पुलिस ने मामले में ए समरी रिपोर्ट दाखिल करते हुए अदालत को बताया था कि मामले में सबूत नहीं मिले। लेकिन अपराध शाखा ने मामले में छानबीन का फैसला किया। सीनियर इंस्पेक्टर संजय निकुंबे की अगुआई में छानबीन शुरू की गई और कुछ लोगों से बातचीत की गई तो पता चला कि मृतक खान का उनके वकील नाम के पार्टनर से पैसों के लेनदेन को लेकर विवाद था। वकील ने अपने दोस्त सैजुद्दीन कुरैशी से खान को सबक सिखाने का तरीका पूछा तो उसने बताया कि उसका अमोल नाम का ड्राइवर है जो पानी का टैंकर चलाता है। अगर वह चाहे से उसकी जान लेकर इसे सड़क हादसा दिखाया जा सकता है। इसके बाद दोनों ने अमोल से बात की तो वह हत्या के लिए तैयार हो गया। खान रोजाना अपने ग्राहकों को पाव और अंडे पहुंचाने जाता था और देर रात वापस लौटते थे। उसका रास्ता तय था। इसी का फायदा उठाकर आरोपियों ने रास्ते में पहले से ट्रक तैयार रखा और मुख्य आरोपी ने ट्रक ड्राइवर को अमोल की निशानदेही करा दी। इसके बाद अमोल ने खान को कुचला और उसकी मौत की पुष्टि होने के बाद फरार हो गया। छानबीन में पता चला है कि मामले का एक आरोपी सैजुद्दीन कुरैशी मारपीट के मामले में जेल में बंद है। पुलिस उसे भी जल्द ही गिरफ्तार करेगी। वहीं सुपारी देने वाले मुख्य आरोपी की तलाश की जा रही है।     
 

कमेंट करें
hVHxp