दैनिक भास्कर हिंदी: Indian Navy rescue operation: चक्रवात ताउते ने छीनी 60 लोगों की जान, 14 शव बरामद, 63 अभी भी लापता

May 19th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ताउते तूफान भले ही गुजरात से निकलकर राजस्थान पहुंच गया है पर इस तूफान ने महाराष्ट्र और गुजरात में भारी तबाही मचाई हैं। इस तूफान की वजह से 60 लोगों की मौत हुई है। तूफान की वजह से समुद्र में कुल 4 जहाज फंसे थे। जिनमें से एक बार्ज P305 हैं। नौसेना ने इस जहाज में मौजूदा 261 लोगों में से 184 को बचा लिया है। वहीं, 63 अब भी लापता है और 14 का शव बरामद किया गया है।चक्रवात की गति धीमी पड़ चुकी है पर इसने नौसेना के सामने कई बड़ी चुनौतियां छोड़ दी है। 

पूरा मामला क्या है
ताउते तूफान की वजह से भारत के 4 जहाज समुद्र में फंसे थे। जिनमें 710 यात्री मौजूद थे। इन्हीं में से एक बार्ज P305 हैं जिसमें कुल 261 लोग फंसे थे। यह बार्ज ओएनजीसी का एकोमोडेशन है। कल नौसेना ने अपने आईएनएस तलवार, कोच्चि और कोलकाता को रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए रवाना किया था। 

अब क्या हालात हैं
नौसेना द्वारा चलाए जा रहे अभियान में कुल 14 शव बरामद किये गए है। यह शव बार्ज P305 के मौजूदा कर्मचारियों के हैं। बीते दिन नौसेना ने यहां पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था । वहीं, 184 लोगों को बचा लिया गया है। अब तक इस तूफान की वजह से गुजरात और महाराष्ट्र में 60 लोगों की मौत हो चुकी है।
 
कंपनी का बयान

बार्ज  P305 की कंपनी एफकॉन के अनुसार पांच दशक में यह सबसे भयावह तूफान है। इस तूफान ने भारी मात्रा में तबाही मचाई है। वहीं, कंपनी ने बताया कि इस बार्ज में कुल 261 लोग सवार थे। जिनमें से 184 को बचा लिया गया है। नौसेना के द्वारा यह अब तक का सबसे बड़ा सर्च ऑपरेशन है।

कहां चलाए जा रहे हैं सर्च ऑपरेशन
बार्ज P305 के अलावा GAL कंस्ट्रक्टर पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था। इस ऑपरेशन में अब तक नौसेना ने कुल 100 लोगों को बचा लिया हैं।

प्रधानमंत्री ने किया चक्रवात से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण
इस चक्रवात ने महाराष्ट्र, कर्नाटक और गुजरात को भारी रुप से नुकसान पहुंचाया है। इस चक्रवात की वजह से कुल 60 लोगों की जान जा चुकी हैं। गुजरात में 45 लोगों की और महाराष्ट्र में 18 लोगों की मौत चक्रवात की वजह से हुई है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवात से प्रभावित क्षेत्रों के निरक्षिण पर निकले थे। प्रधानमंत्री मोदी गुजरात और दमन- दीप के लिए हेलीकॉप्टर से निकले। इस दौरान उन्होंने चक्रवात से प्रभावित क्षेत्र गिर सोमनाथ, भावनगर, अमरेली का हवाई सर्वक्षेण किया। प्रभावित क्षेत्रों का निरक्षिण करने के अलावा वह मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, उपमुख्यमंत्री एवं राज्य के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ आज बैठक करेंगे।

 


 

खबरें और भी हैं...