नाना पटोले बोले : सभी को पता है पवार परिवार का इतिहास  : चिंतन शिविर में भी उठा राकांपा के साथ कलह का मुद्दा

May 14th, 2022

अजीत कुमार, उदयपुर । महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने राकांपा सुप्रीमों शरद पवार और उनके परिवार पर जमकर हमला बोला है। राकांपा पर पीठ पीछे से वार करने का आरोप लगाते हुए उन्होने कहा कि पवार परिवार का इतिहास पूरे देश को पता है। गोंदिया प्रकरण पर चर्चा के दौरान उन्होने राकांपा को नसीहत दी कि दोस्ती या दुश्मनी, जो भी करना है, सामने से करो।

कांग्रेस के तीन दिवसीय चिंतन शिविर में हिस्सा लेने उदयपुर पहुंचे पटोले राकांपा द्वारा उन पर किए जा रहे सियासी हमले का जवाब दे रहे थे। उन्होने कहा कि पवार परिवार का इतिहास पूरे देश को पता है। उन्होने राकांपा से कहा कि दोस्ती करो तो सामने से और बराबरी से करो। साथ में रहकर इस तरह का विश्वासघात मत करो। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और राकांपा नेता अजित पवार द्वारा उन पर किए कटाक्ष पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पटोले का परिचय पूरे देश की जनता को पता है। भाजपा में रहते हुए भी मैंने कभी विचारधारा से समझौता नहीं किया। उन्होने कहा कि वो मेरे ऊपर व्यक्तिगत रूप से आरोप लगा सकते हैं, लेकिन मैं पवार परिवार पर व्यक्तिगत आरोप नहीं लगाऊंगा, लेकिन उनके जीवन के बारे में सबको पता है।

पटोले की शिकायत पर गंभीर दिखा नेतृत्व
नाना पटोले ने बताया कि चिंतन शिविर में शीर्ष नेतृत्व के समक्ष उन्होने यह मुद्दा उठाया है। कांग्रेस आलाकमान द्वारा शनिवार को बुलाई पार्टी के प्रदेश अध्यक्षों और विधायक दल के नेताओं की बैठक में यह मसला उठा। सूत्र बताते हैं कि शीर्ष नेतृत्व ने पटोले की शिकायत को गंभीरता से लिया है। पटोले ने कहा कि आगे सब ठीक हो जाएगा। माना जा रहा है कि कांग्रेस नेतृत्व जल्द ही गोंदिया मसले पर राकांपा सुप्रीमों शरद पवार से बात करेगा। उल्लेखनीय है कि गोंदिया जिला परिषद चुनाव में राकांपा ने अपनी सहयोगी कांग्रेस को परे रखते हुए भाजपा से हाथ मिला लिया है। इसके बाद से कांग्रेस और राकांपा के नेताओं के बीच बयानबाजी जारी है। नाना पटोले ने ‘एक परिवार, एक टिकट’ के फार्मूले का समर्थन किया है। निर्दलीय सांसद नवनीत राणा द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ करने पर पटोले ने कहा कि यह सब मोदी सरकार की आठ साल की विफलता को छिपाने के लिए किया जा रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा धर्म का सहारा लेकर 2014 में सत्ता में आई थी और सत्ता में टिके रहने के लिए भी वह धर्म का सहारा ले रही है। बता दें कि नाना पटोले कांग्रेस द्वारा चिंतन शिविर के लिए गठित किसान व कृषि समिति के सदस्य हैं।


 

खबरें और भी हैं...