comScore

कानपुर एनकाउंटर: विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर साधा निशाना, राहुल बोले- पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?

कानपुर एनकाउंटर: विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर साधा निशाना, राहुल बोले- पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी?

हाईलाइट

  • हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग
  • बदमाशों की गोलीबारी में आठ पुलिसकर्मियों ने गंवाई जान
  • राहुल गांधी, प्रियंका, मायावती और अखिलेश ने साधा निशाना

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर में बदमाशों के साथ हुई गोलीबारी में आठ पुलिसकर्मियों की जान चली गई। अब इस मामले को लेकर कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। सभी ने इस केस में सख्त कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर शहीदों के परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं कीं और राज्य की बीजेपी सरकार को घेरते हुए कहा, यह घटना गुंडाराज का प्रमाण है। जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्विटर के माध्यम से लिखा है, यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं।आमजन से लेकर पुलिस तक असुरक्षित है। कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर कहा है, कानपुर की घटना दु:खद और शर्मनाक। यूपी सरकार को कानून-व्यवस्था के मामले में और अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है। इस घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है, उप्र के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में ‘सत्ताधारियों और अपराधियों ‘की मिलीभगत का खामियाजा पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा।
अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए।

एक अन्य ट्वीट में अखिलेश ने कहा, यूपी की भाजपा सरकार अपनी पोलपट्टी खुलने के डर से आनन-फानन में मुख्य अपराधी को न पकड़कर छोटी-मोटी मुठभेड़ दिखाने का नाटक करवा रही है। इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल और गिरेगा, वहीं पुलिस का आक्रोश भी बढ़ेगा। सरकार तुरंत मुआवजा घोषित करें व परिजनों को हर संभव संरक्षण दें।

बता दें कि, उत्तरप्रदेश के कानपुर में गुरुवार रात करीब एक बजे हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इसमें सर्कल ऑफिसर (DSP) और 3 सब इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मियों की जान चली गई। बताया जा रहा है, घटना में करीब 12 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। 

कमेंट करें
q3cGV