comScore

कानपुर हत्याकांड: विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा, प्रियंका गांधी ने कहा- कानून-व्यवस्था ने गुंडों के सामने सरेंडर किया

कानपुर हत्याकांड: विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा, प्रियंका गांधी ने कहा- कानून-व्यवस्था ने गुंडों के सामने सरेंडर किया

हाईलाइट

  • कानपुर में लैब टेक्नीशियन संजीत यादव की अपहरण के बाद हत्या
  • प्रियंका, अखिलेश और मायावती ने योगी सरकार पर उठाए सवाल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कानपुर में लैब टेक्नीशियन संजीत यादव के अपहरण और हत्या के मामले को लेकर विपक्ष ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए योगी सरकार को घेरा है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, यूपी में कानून व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। आम लोगों की जान लेकर अब इसकी मुनादी की जा रही है। घर, सड़क, ऑफिस कहीं भी कोई खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करता।

प्रियंका ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, पुलिस ने किडनैपर्स को पैसे भी दिलवाए और अब उनकी हत्या कर दी गई। एक नया गुंडाराज आया है। इस जंगलराज में कानून-व्यवस्था गुंडों के सामने सरेंडर कर चुकी है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, कानपुर से अपहृत इकलौते बेटे की मौत की खबर दुखद है। चेतावनी देने के बाद भी सरकार निष्क्रिय रही। अब सरकार 50 लाख का मुआवजा दे। सपा मृतक के परिवार को 5 लाख की मदद देगी।

समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, संजीत यादव की हत्या समूची कानून व्यवस्था की हत्या है। 1 महीने से निष्क्रिय सरकार का भ्रष्ट तंत्र सिर्फ विपक्षियों को फंसाने के लिए? अपराधियों को पकड़ने के लिए मुख्यमंत्री ने क्या रणनीति बनायी? पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग की गई है।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने योगी सरकार से मांग की है कि, वह अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में तुरंत हरकत में आए। मायावती ने ट्वीट कर कहा, यूपी में जारी जंगलराज के दौरान एक और घटना में संजीत की हत्या करके शव को नदी में फेंक दिया गया जो दुखद और निन्दनीय है। प्रदेश सरकार अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में तुरन्त हरकत में आए।

कमेंट करें
x0iu6