comScore

अंतिम संस्कार के लिए मांगी शराब तो महिलाओं ने खुद गड्ढा खोदकर पूर्ण करवाई विधि

अंतिम संस्कार के लिए मांगी शराब तो महिलाओं ने खुद गड्ढा खोदकर पूर्ण करवाई विधि

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। शराब की लत इंसान को हर तरह से बर्बाद कर देती है इसलिए अपने परिवार को इस लत से बचाने का बीड़ा गड़चिरोली की महिलाओँ ने उठा रखा है । महिलाओं के सामने जब कुछ शराबियों ने अंतिम संस्कार के लिए गड्ढा खोदने के लिए शराब की मांग की तो महिलाओं ने उन्हें करारा जवाब दिया और खुद गड्ढा खोदकर मृत व्यक्ति की अंतिम विधि संपन्न करवाई।

बता दें कि जिले में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी चोरी-छिपे शराब बिक्री जारी है, जिससे शराब के आदी लोगों की संख्या दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। किसी भी कार्य के लिए पहले शराब की मांग की जाती है। इसी तरह  सिरोंचा तहसील के ग्राम लक्ष्मीदेवपेठा में घुंडम रामुलु नामक व्यक्ति की मृत्यु हो गयी। उसका शव दफनाने के लिए गड्ढा खोदने के लिए कुछ लोगों ने शराब की मांग की और शराब के लिए अड़े रहे। मामले की जानकारी मिलते ही शराबबंदी समिति की महिलाओं ने मौके पर पहुंचकर मृतक के परिजनों को गड्ढा खोदने हेतु शराब नहीं देने की बात कही। अंतत: समिति की महिलाओं ने आगे आकर शव को दफनाने के लिए स्वयं ही गड्ढा खोदने का निर्णय लिया गड्ढा खोदने में जुट गईं। शराबबंदी के लिए महिलाओं की तत्परता देख मृतक के परिजनों ने इन लोगों को शराब देने से इनकार कर स्वयं ही गड्ढा  खोदकर शव को दफनाया। 

महिलाओं के इस निर्णय व कार्य की सर्वत्र सराहना की जा रही है।  शराबबंदी के लिए इस गांव की महिलाओं की तत्परता अन्य गांवों की महिलाओं के लिए एक आदर्श रखा है। उल्लेखनीय है कि, ग्राम लक्ष्मीदेवपेठा में पूर्णत: शराबबंदी कर शराबबंदी  गांव संगठन की महिलाओं ने शराब बिक्री के खिलाफ कमर कस ली है। हाल ही में गांव संगठन की महिलाओं ने गांव के 16 शराब विक्रेताओं के घरों पर धावा बोलकर बड़े पैमाने पर शराब बरामद की। महिलाओं की शिकायत पर शराब विक्रेताओं को पुलिस के हवाले किया गया। इतना ही नहीं संगठन की महिलाओं से गालीगलौच करनेवाले शराब विक्रेताओं को ग्रामसभा में सामूहिक माफी भी मांगनी पड़ी।
 

कमेंट करें
Jstbk