comScore

पेंटिंग से बताएंगे शौचालय-स्वच्छता का महत्व, हर ग्राम पंचायत की दीवारों पर चार पेंटिंग बनाना अनिवार्य

पेंटिंग से बताएंगे शौचालय-स्वच्छता का महत्व, हर ग्राम पंचायत की दीवारों पर चार पेंटिंग बनाना अनिवार्य

डिजिटल डेस्क,शहडोल। बहुत जल्द जिले की हर ग्राम पंचायत की दीवारों पर खूबसूरत पेंटिंग नजर आएंगी। यह न सिर्फ गांव की सुंदरता को बढ़ाएंगी बल्कि लोगों को स्वच्छता का महत्व बताएंगी। हर ग्राम पंचायत मेंं लोगों को जागरूक करने वाली चार अलग-अलग तरह की पेंटिंग बनाई जाएंगी। ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) अंतर्गत यह कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। इसे नाम दिया गया है लोक चित्र से स्वच्छता संवाद। इसके लिए स्वसहायता समूह की महिलाओं को ही पेंटिंग बनाने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है, क्योंकि गांव के सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व को तरह जानती व समझती हैं। अभियान इसी माह शुरू हो जाएगा और 2 अक्टूबर को समारोह पूर्वक संपन्न होगा। ग्राम पंचायतों में जिन चार विषयों पर पेंटिंग बनाई जानी हैं, उनमें कूड़े का सही निपटान, शौचालय का उपयोग, शौचालय के उपयोग से खुशहाली और हाथ धुलाई शामिल हैं।

इसलिए शुरू हुआ अभियान

स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत सभी घरों में शौचालय की उपलब्धता एवं उसके उपयोग द्वारा खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) की निरंतरता के लिए ग्रामीण समुदाय में संवाद स्थापित करने का अभियान मिशन मार्गदर्शी निर्देशों के अनुरूप चलाया जाएगा। दीवारों का चयन ग्राम पंचायत करेगी। सार्वजनिक दीवारें हों। ज्यादा से ज्यादा लोग देख पाएं। पंचायत भवन, शासकीय  स्कूल दीवार होनी चाहिए। निजी दीवार भी हो सकती है, बशर्तें यह सार्वजनिक स्थान पर हो।ग्राम पंचायत मेंं लोगों को जागरूक करने वाली चार अलग-अलग तरह की पेंटिंग बनाई जाएंगी। 

महिलाओं को दी जा रही ट्रेनिंग 

पेंटिंग के लिए मास्टर ट्रेनर पेंटरों ने सोमवार को सोहागपुर और बुढ़ार, जबकि मंगलवार को जयसिंहनगर, गोहपारू और ब्यौहारी जनपद में स्वसहायता समूहों की महिलाओं को प्रशिक्षण दिया। जिले में 391 ग्राम पंचायत हैं। इस तरह हर ग्राम पंचायत में चार पेंटिंग के हिसाब से 1564 पेंटिंग तो बननी ही है। कुछ ग्राम पंचायतों में एक से अधिक गांव आते हैं। उन गांवों में भी दो-दो पेंटिंग बनाई जानी है। 

कमेंट करें
IVyCg