दैनिक भास्कर हिंदी: सिंगरौली में भी खुलेगा मेडिकल कॉलेज - जमीन के लिये  मेडिकल शिक्षा विभाग ने दिया निर्देश

September 4th, 2019

डिजिटल डेस्क,सिंगरौली। अभी तक कागजों तक सिमटे जिले के लिये मेडिकल कॉलेज की प्रक्रिया धरातल पर आने को है। दरअसल, जिले में मेडिकल खोलने जाने के लिये जमीन तलाशी जा रही है। यह तलाश मेडिकल शिक्षा विभाग द्वारा हाल ही में मेडिकल कॉलेज को लेकर जिला प्रशासन से मांगी गई एक जानकारी के बाद शुरू की गई है। जिसमें जिला प्रशासन द्वारा वैढन से कुछ ही दूरी पर स्थित सिद्धी खुर्द में 25 एकड़ जमीन प्रारंभिक तौर पर कॉलेज के लिये चिन्हित की गई है। खास बात यह है कि मेडिकल कॉलेज को लेकर शुरू हुई इस कवायद में कलेक्टर केवीएस चौधरी ने टीएल मीटिंग दौरान संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह मौके पर जाकर वस्तु स्थिति की जानकारी से अवगत करायें। बताया जाता है कि मेडिकल शिक्षा विभाग द्वारा जिला प्रशासन से जमीन के अलावा अन्य कई संबंधित जानकारियां भी मांगी है, जिसके आधार पर मेडिकल कॉलेज खोले जाने की राह आसान होगी।

प्रशासन को रहना होगा चौकन्ना

खास बात तो यह भी कही जा रही है कि कलेक्टर चौधरी द्वारा टीएल में जिस प्राथमिकता के साथ मेडिकल कॉलेज के लिये जमीन का मुआयना करने का निर्देश दिया गया है, उसके अनुसार अगर सब ठीक रहा, तो सिद्धी खुर्द में 25 एकड़ जमीन पर जिला प्रशासन अपने स्तर से मुहर लगा देगा। ताकि उसे बार-बार जमीन के लिये भटकना नहीं पड़े। वैसे भी आदर्श कॉलेज के लिये मोरवा क्षेत्र के पास जमीन आवंटित होने और बिल्डिंग निर्माण का टेंडर होने के बाद जो स्थितियां सामने आयी हैं उससे आदर्श कॉलेज की बिल्डिंग का निर्माण अधर में अटक गया है और ऐसा हश्र कम से कम मेडिकल कॉलेज के साथ नहीं होने पाये, जिला प्रशासन को इसे लेकर सतर्क रहना होगा। 

मांगी गई है अन्य कई जानकारी

मेडिकल शिक्षा विभाग द्वारा जिला प्रशासन से जिले के जिला अस्पताल की 3 साल की ओपीडी और आईपीडी का आंकड़ा भी मांगा गया। ताकि, इससे जिले के मरीजों की स्थिति पता की जा सके। इसके साथ ही जिला अस्पताल के जमीन, मैन पावर समेत अन्य कई आवश्यक जानकारियां मांगी गई हैं। जिन्हें जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का निर्देश कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा सीएमएचओ डॉ. आरपी पटेल को दिया गया। 

इनका कहना है
अभी मेडिकल कॉलेज का आवंटन जिले के लिये नहीं हुआ है। मेडिकल शिक्षा विभाग द्वारा कॉलेज के लिये भूमि आदि की जानकारी मांगी गई है। जब कॉलेज का आवंटन जिले को हो जाएगा, तब यहां जमीन का आवंटित की जाएगी।  - केवीएस चौधरी, कलेक्टर
 

खबरें और भी हैं...