comScore

 पेंच नदी में बाढ, आधी रात को खोलने पड़े माचागोरा बांध के सभी 8 गेट

 पेंच नदी में बाढ, आधी रात को खोलने पड़े माचागोरा बांध के सभी 8 गेट

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। तामिया, अमरवाड़ा और जुन्नारदेव में हुई बारिश से पेंच नदी उफान पर आ गई। पेंच के उफान पर होने से माचागोरा बांध का जलस्तर तेजी से बढ़ा। दिनभर दो गेट खुले रहने के बावजूद रात 12 बजे तक जलस्तर बढ़कर 625.40 मीटर तक पहुंच गया था। जो कि डेम के कुल जलस्तर से महज 35 सेमी कम था। अचानक बढ़े जलस्तर के बाद आनन-फानन डेम के सभी आठ गेट खोलने पड़े। 8 गेट 30 सेंटीमीटर से तीन मीटर तक खोलकर करीब 84 हजार क्यूबिक फीट पानी प्रति सेकंड छोड़ा गया। रात 12 के बाद से सुबह 4.30 बजे तक लगातार आठ गेट खुले रहे। सुबह 4.30 बजे 4 गेट बंद किए गए जबकि बाकी चार गेट सुबह 8 बजे तक खुले रहे। तब जाकर डेम के जलस्तर में कमी लाई जा सकी। हालांकि गुरुवार शाम को फिर दो गेट खोलने पड़े।

24 घंटे में 64 एमसीएम पानी छोड़ा

माचागोरा बांध से  24 घंटे में करीब 64 एमसीएम पानी छोड़ा गया। इसमें करीब 55 एमसीएम पानी रात में करीब साढ़े चार घंटे में आठ गेट खुले रहने के दौरान डेम से छोड़ा गया। डेम के गेट खुलने का फायदा महाराष्ट्र के तोतलाडोह को मिल रहा है। पिछले साल खाली रह गए तोतलाडोह में अब तक 450 एमसीएम से ज्यादा पानी जमा हो चुका है।

अमरवाड़ा में 5 इंच बारिश ने खुलवाए सभी दरवाजे

बुधवार पूरे दिन बारिश का दौर जारी रहा, जबकि रात में मूसलाधार बारिश की स्थिति बनी। सबसे ज्यादा अमरवाड़ा ब्लॉक में करीब 5 इंच बारिश हुई। जिसने पेंच नदी को उफनाने के साथ डेम के सभी आठ गेट खोलने मजबूर कर दिया। वैसे पेंच के कैचमेंट एरिया में आने वाले परासिया में 92 मिमी, तामिया में 80 मिमी और जुन्नारदेव में पिछले 24 घंटे में 67 मिमी बारिश दर्ज की गई। 

कन्हरगांव को महज डेढ़ एमसीएम पानी की जरुरत:

सिंचाई के साथ ही छिंदवाड़ा शहर की प्यास बुझाने वाले जिले के इकलौता मीडियम दर्जे का बांध कन्हरगांव 91 फीसदी तक भर चुका है। पूरा भरने के लिए महज डेढ़ एमसीएम पानी की जरुरत है। डेम का कुल जलस्तर 713.80 मीटर है। अब तक डेम 713.40 मीटर तक भर चुका है। सिर्फ 40 सेमी भरना शेष है। 
 

कमेंट करें
iL8IP