दैनिक भास्कर हिंदी: परासिया में बंद खदान के मुहाने से फिर शुरू हुआ जहरीली गैस का रिसाव 

February 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, छिन्दवाड़ा/परासिया। कोयलांचल के ग्राम भमोड़ी के पास स्थित नार्थ चांदामेटा की बंद भूमिगत खदान से फिर जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया है। यह गैस मवेशियों और आम नागरिकों सहित बच्चों के लिए जानलेवा बनी हुई है। बता दें कि कई सालों पहले नार्थ चांदामेटा भूमिगत खदान बंद कर दी गई थी, लेकिन इस खदान का मुहाना हमेशा विवादों में रहा है। शनिवार को ग्रामीणों ने बंद खदान के मुहाने को खुला देखा। इस खदान के मुहाने से गैस रिसाव भी शूरू हो गया है। ग्रामीणों ने बताया कि मुहाने के आसपास कीट पतंगे मरे हुए पड़े हैं जिससे साफ है कि खदान के मुहाने से जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया है। पिछले साल इस मुहाने से गैस रिसाव हुआ था, जिसके बाद वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) ने मुहाने को मिट्टी से भर कर खानापूर्ति कर दी लेकिन इस साल फिर से मुहाने की मिट्टी धसक गई है और मुहाना खुल गया है।

पिछले साल भी हुआ था गैस रिसाव 

पिछले साल भी नार्थ चांदामेटा खदान में गैस रिसाव हुआ था। ग्रामीणों की शिकायत पर वेकोलि प्रबंधन ने तत्काल मिट्टी से मुहाना भरवा दिया था और गैस रिसाव बंद कर दिया था। इस दौरान वेकोलि ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही मुहाने को स्थायी रूप से बंद कर दिया जाएगा, लेकिन पूरा साल बीत जाने के बाद भी वेकोलि ने मुहाना स्थायी रूप से बंद नही कराया है। इस साल फिर से मुहाना पूरी तरह से खुल गया है।

बच्चों व जानवरों के लिए खुला मुहाना बना खतरा 

नार्थ चांदामेटा भूमिगत खदान का खुला मुहाना मवेशियों, जंगली जानवरों और बच्चों के लिए खतरा बन गया है। मुहाना पूरा खुला हुआ है। यहां से गैस का रिसाव तो हो ही रहा है लेकिन इस खुले मुहानें में जानवरों और बच्चों के गिर जाने का खतरा भी बना हुआ है। मुहाना खुला होने के कारण कोई भी इसकी चपेट में आ सकता है।

स्थानीय लोगों का क्या है कहना :

स्थानीय निवासी राज कैथवास का कहना है, 'खदान कई साल पहले बंद कर दी गई है लेकिन खदान का मुहाना स्थायी रूप से बंद नही किया गया है, जिसके चलते जहरीली गैस का रिसाव कभी भी होने लगता है।' एक अन्य निवासी अमित तिवारी का कहना है, 'पिछले साल मुहाना भरा भरा गया था लेकिन इस साल फिर मुहाना खुल गया है इस मुहाने से जहरीली गैस का रिसाव होता है जिससे बच्चों व मवेशियों को खतरा है।'

क्या कहता है प्रबंधन 

वेकोलि के सब एरिया मैनेजर हंसराज बावरिया ने इस मसले पर कहा है कि पहले भी इस खदान का मुहाना खुला था, जिसे सीमेन्ट कांक्रीट से बंद कराया गया था अभी फिर से मुहाना खुलने की जानकारी नहीं मिली हैं, जांच कराकर मुहाना बंद कराने की कार्यवाही की जाएगी।