comScore

नहीं देखा होगा पुलिस का यह रूप : वृद्ध को गोद में लेकर कराया अस्पताल में भर्ती,बेटों की तरह की सेवा

नहीं देखा होगा पुलिस का यह रूप : वृद्ध को गोद में लेकर कराया अस्पताल में भर्ती,बेटों की तरह की सेवा

डिजिटल डेस्क,छतरपुर। अपने कारनामों को लेकर सदा सुर्खियों में रहने वाली पुलिस का कल ऐंसा मानवीय चेहरा देखने को मिला जिसे देखकर सभी का दिल उन्हें सैल्यूट करने को चाहा। बताया गया है कि  जिला अस्पताल में मंगलवार की दोपहर एक अजब वाक्या नजर आया, जब सिटी कोतवाली की पीसीआर वैन असहाय बीमार दंपति को इलाज कराने जिला अस्पताल पहुंची।अस्पताल की सीढ़ियां न चढ़ पाने पर सिपाही बीमार वृद्ध को अपनी गोद में लेकर दूसरे फ्लोर पर पहुंचा और बीमार दंपति को दवाईयां उपलब्ध कराकर भर्ती कराया। ये बीमार बुजुर्ग दंपति दिल्ली में रहने लगे अपने बेटों को वापस घर बुलाने के लिए पुलिस के पास फरियाद लेकर पहुंचे थे। मगर दंपति के ज्यादा बीमार होने पर कोतवाली टीआई ने उनकी बात सुनते हुए सबसे पहले स्टाफ को उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराने के लिए निर्देशित किया। तब पीसीआर वैन प्रभारी प्रधान आरक्षक मुन्नालाल विश्वकर्मा और आरक्षक मान सिंह राजपूत बीमार दंपति को इलाज के लिए अस्पताल लेकर पहुंचे और स्वयं उनके बेटे बनकर उनका इलाज कराते हुए नजर आए। 
 

ये है मामला : मदद से खुश है दंपत्ति

सिटी कोतवाली अंतर्गत रामनगर निवासी कलुआ उम्र 80 साल और उसकी पत्नी मुनिया अहिरवार उम्र 75 साल के दो बेटे हैं, जो दो साल पहले दिल्ली कमाने को गए थे। मगर दिल्ली से वापस नहीं लौटे। किसी तरह वृद्ध दंपति अपना गांव में गुजारा करती रही, किसी गांववाले ने उन्हें थाने जाने की सलाह दी। इस पर बीमार दंपति सिटी कोतवाली पुलिस के पास बेटों को ढूंढने के लिए गई थी। जहां पुलिस ने वृद्ध बीमार दंपति की बात सुनते हुए उन्हें तत्काल इलाज दिलाया। इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ने इलाज करके दंपति को भर्ती कर दिया, तब वार्ड तक पहुंचाने के लिए सिर्फ एक स्ट्रैचर होने से पुलिस ने वृद्धा को स्ट्रैचर बिठाया और वृद्ध को गोद में उठाकर दूसरी मंजिल तक पहुंचाया।
 

कमेंट करें
OocnP