दैनिक भास्कर हिंदी: राजगढ़: प्रशिक्षण में सीखी बातों को आदत बनाएं बन सकते हो बड़े व्यापारी

January 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, राजगढ़। राजगढ़ सरकार द्वारा उद्यमिता के विकास के लिए जो प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में न सिर्फ बैंकिंग व्यवहार सिखाया जाता है, बल्कि यहां सिखाये जाने वाले कामकाज के तरीकों को जीवन में उतारा जाए तो हम सफल उद्यमी बन सकते हैं। यह बात सोमवार की आरसेटी में सामान्य उद्यमिता विकास प्रशिक्षण के समापन कार्यक्रम में अतिथियों ने कही। बैच कॉर्डिनेटर आरसेटी एस जैन ने बताया बताया कि मुख्यमंत्री ग्रामीण कामगार सेतु योजना के तहत विभिन्न बैंकों द्वारा जिले के करीब 11 हजार ग्रामीण पथ विक्रेताओं को 10-10 हजार रुपए लोन स्वीकृत किए गए हैं। इनमें से करीब 4 हजार पथ विक्रेताओं की राशि बैंकों ने उनके खाते में डाल दी है। इस योजना के तहत चयनित ग्रामीणों को सरकार द्वारा ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) के माध्यम से उद्यमिता विकास प्रशिक्षण भी दिलाया जा रहा है। इसी के तहत 6 जनवरी से शुरू हुए छ दिवसीय प्रशिक्षण बैच का समापन सोमवार को हुआ। आरसेटी परिसर में हुए इस प्रशिक्षण के अंतिम दिन प्रशिक्षुओं की लिखित परीक्षा भी ली गई। कार्यक्रम के अंत में एडीजे श्री सलीम शेख व जिला विधिक सेवा अधिकारी श्री फारुख अहमद सिद्दीकी ने प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र वितरित किए। इस मौके पर आरसेटी डायरेक्टर अमृत टोप्पो, बैच कॉर्डिनेटर व फैकल्टी सत्येंद्र जैन, अंकिता सांकवा सहित बड़ी संख्या में प्रशिक्षु व स्टाफ सदस्य मौजूद रहे। कानूनी प्रावधानों की जानकारी देने पहुंचे एडीजे शिविर समापन के मौके पर सोमवार दोपहर को एडीजे व जिला विधिक सहायता प्राधिकरण के सचिव श्री सलीम शेख आरसेटी पहुंचे। उनके साथ जिला विधिक सेवा अधिकारी श्री फारुख अहमद सिद्दीकी भी थे। उन्होंने प्रशिक्षुओं को सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली निःशुल्क कानूनी सलाह व सहायता के बारे में जानकारी दी। इससे पूर्व प्रशिक्षण के दौरान मार्गदर्शन देने पहुंचे एल.डी.एम .श्री आर.एस. सिंह ने प्रशिक्षुओं को बैंकिंग व्यवहार की जानकारी दी थी। उन्होंने बताया कि अगर बैंकों की लोन राशि समय पर लौटाई तो वह आपकी सिविल के आधार पर अच्छे ग्राहकों को दोबारा लोन भी दे सकते हैं। जिससे आपको अपने व्यापार को और आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।