नागपुर: उद्योगों के संसाधन और आवश्यकतानुसार प्रशिक्षण की योजना 

November 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। एशिया में एकमात्र महिला विश्वविद्यालय श्रीमती नाथीबाई दामोदर ठाकरसी विश्वविद्यालय (एसएनडीटी) का एक उप-केंद्र विसापुर (बल्लारपुर तहसील) में बनाया जा रहा है। इसके माध्यम से महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ जिले की महिलाओं को रोजगारोन्मुखी बनाया जाएगा। इसलिए जिले के प्राकृतिक संसाधनों के उपयोग और स्थानीय उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार एसएनडीटी विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण के नियोजन करने की बात पालकमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कही।  वन अकादमी में एसएनडीटी विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण के संबंध में जिले के उद्योजकों के संवाद के दौरान पालकमंत्री मुनगंटीवार बोल रहे थे। इस अवसर पर जिलाधीश विनय गौड़ा, विश्वविद्यालय  कुलगुरु डॉ. उज्ज्वला चक्रदेव, कुलसचिव डॉ. विलास नांदवडेकर, वन अकादमी के संचालक एम. श्रीनिवास रेड्डी उपस्थित थे।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत की अवधारणा प्रस्तुत की यह कहते हुए मुनगंटीवार ने कहा कि पीएम की संकल्पना अनुसार जिला आत्मनिर्भर कैसे होगा इस पर चर्चा तथा विवि के पाठ्यक्रम के संबंध में उद्योजकों के साथ यह संवाद आयोजित किया। आज अधिकांश उद्योगों में कुशल कामगारों की कमी है। इसमें चंद्रपुर जिला भी अपवाद नहीं है। इस पर मात करने विवि के माध्यम से कुशलता पर आधारित पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण यहां की महिलाओं को दिया जाएगा। पालकमंत्री मुनगंटीवार ने कहा कि उद्योग विस्तार के लिए सरकार और जिला प्रशासन सकारात्मक है। इसके अलावा स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, रोजगार, सिंचाई, हर घर नल जैसी महत्वकांक्षी योजना पर सरकार का विशेष ध्यान है। इसके लिए स्थानीय उद्यमियों का सहयोग आवश्यक है। जिले के विकास की दृष्टि से आवश्यक निधि सरकार से मिलनी ही है किंतु कई छोटे मोटे कामों के लिए निधि की कमी पड़ती है। ऐसे में उद्योजकों को सीएसआर फंड के माध्यम से सहयोग और एसएनडीटी विवि पाठ्यक्रम और आवश्यक प्रशिक्षण की अपील की। इस अवसर पर जिलाधीश विनय गौड़ा ने कहा, एस.एन.डी.टी. विश्वविद्यालय का एक सुनियोजित एवं आदर्श परिसर चंद्रपुर में स्थापित किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन विवि को हर संभव मदद करेगा।  विवि कुलगुरु डा. उज्वला चक्रदेव ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से विवि के पाठ्यक्रम के जरिए जानकारी दी। शैक्षणिक सत्र 2023-24 से बल्लारपुर में एसएनडीटी के अल्पवधि कुशलता अधारित महर्षि कर्वे महिला सशक्तिकरण परिसर नाम से शुरू  किया जाएगा।  स्थानीय और विदेशी पर्यटकों के साथ अच्छी तरह से संवाद करने के लिए खनन क्षेत्र में उत्खनन तकनीक और मशीनरी हैंडलिंग, स्थानीय हस्तशिल्प, विदेशी भाषा और संचार कौशल आदि के पाठ्यक्रमों में रोजगार पाने की काफी संभावना होगी।