दैनिक भास्कर हिंदी: सब स्टेशन में तैनात आपरेटरों को अधमरा कर कबाड़ चोरों ने किया कीमती माल पर हाथ साफ, CCTV कैमरे में हुए कैद

June 7th, 2018

डिजिटल, डेस्क सिंगरौली (बैढ़न )। ट्रांसमिशन कंपनी के 132 केवी सब स्टेशन पर बीती रात आधा दर्जन कबाड़ चोरों ने जमकर कहर बरपाया। उन्होंने यहां तैनात दो ऑपरेटरों की पहले तो डंडे से खूब पिटाई की और फिर स्टेशन में रखी कई कीमती सामग्रियों पर हाथ साफ किया। कबाड़ चोरों का शिकार बने ऑपरेटरों का नाम एलके पटेल और केपी सिंह बताया जाता है, दोनों ही यहां सीनियर असिस्टेंट ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है।

दोनों पीड़ितों के अनुसार करीब आधा दर्जन की संख्या में कबाड़ चोर आए थे। जो पहले तो स्टेशन में बाहर की तरफ स्थित स्टोर रूम का ताला तोड़ने में लगे थे। जब ताला नहीं टूटा, तो 3 कबाड़ चोर देर रात करीब 2 बजे स्टेशन के भीतर कंट्रोल रूम में घुसे थे और स्टोर रूम की चाभी मांगने लगे। चाभी देने में आनाकानी करने पर तीनों भड़क उठे, उनके हाथ में डंडा व धारदार हथियार फर्सा था। पहले तो डंडा व फर्सा दिखाकर धमकाने लगे। फिर अचाकन ही डंडे से दोनों ऑपरेटरों को पीटने लगे। खतरा बढ़ते देख मजबूरी में ऑपरेटरों ने स्टोर की चाभी दे दी और चोरों ने अपने साथियों को चाभी देकर स्टोर में रखे कीमती सामान निकलवाना शुरू कर दिया।

इस दौरान तीनों चोर कंट्रोल रूम में ही थे और ऑपरेटरों से मारपीट करते हुए धमकी दे रहे थे कि अगर घटना की सूचना पुलिस को दी तो जान से मार देगें। वहीं इससे पहले कंट्रोल में घुसते से ही चोरों ने पहले दोनों ऑपरेटर के मोबाइल फोन छीन लिया था। पास में ही रखा बीएसएनएल और एनसीएल का लैंडलाइन फोन का कनेक्शन भी काट दिया था। ताकि, कोई फोन न कर सके और न ही कोई फोन आए।

CCTV लाइन भी क्षतिग्रस्त की
पीडि़त कर्मियों ने बताया कि मारपीट करने के बाद चोरों का ध्यान कंट्रोल रूम में लगे CCTV कैमरों तरफ गया। जहां उन्होंने CCTV कैमरे व लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया। ताकि उनकी फुटेज कैमरे में रिकार्ड ना होने पाए। लेकिन देर रात करीब 3.12 बजे तक की मारपीट की फुटेज CCTV कैमरे में कैद हो चुकी थीं।

काफी देर पड़े रहे बदहाल
बताया जाता है कबाड़ चोरों ने दोनों ऑपरेटरों को डंडे से इतनी बुरी तरह पीटा है कि उनके पेट, पीठ व शरीर के अन्य हिस्सों में इसके निशान आसानी से देखे जा सकते हैं। अपने साथ हुई मारपीट से दोनों ऑपरेटर इतना ज्यादा दहशत में आ गये थे गिरोह के जाने के बाद उन्हें सम्हलने में काफी समय लग गया। बड़ी मुश्किल से हिम्मत करके बेचारों ने दोनों लैंडलाइन को कनेक्ट करने की कोशिश की। जिसमें एनसीएल का लैंडलाइन कनेक्ट हुआ तो निगाही में फोन करके वहां से मदद मांगी, जिसके बाद निगाही एवं अन्य जगहों से एक-एक करके लोग मौके पर पहुंचने लगे। तब तक सुबह भी हो चुकी थी।

लाखों का सामान चोरी
बताया जाता है चोरों ने स्टेशन से कॉपर इंसुलेटर के कई पीस, कई बंडल केबल, एल्मुनियम के क्लैंप, दो बैट्री सहित अन्य कई कीमती समग्रियों पर हाथ साफ किया है। वहीं सुबह देखा गया कि चोर सब स्टेशन में जहां पीछे तरफ से आए थे उधर से ही वापस हुए हैं और वहां बैट्री सहित अन्य अन्य सामग्रियां भी पड़ी मिली है। जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि चोर काफी संख्या में थे और वह यहां से सामान ढोकर ले जा रहे थे। जो ले जा सके, ले गये बाकी यहीं छोड़ दिया।

पहले भी हो चुकी चारियां
खास बात यह है कि इससे पहले भी यहां सब स्टेशन में कई बार चोरियां हो चुकी है और पिछले बार नवंबर माह में तो लगातार दो बार कबाड़ चोरों ने यहां घुसपैठ कर रात में चोरियां की थी। जिसके बाद भी नवानगर पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं करते हुए मामले को रफादफा ही कर दिया था।

इनका कहना है
देर रात हुई चोरी और दो ऑपरेटरों के साथ की गई मारपीट की लिखित शिकायत नवानगर थाने में दी जा चुकी है। कंट्रोल के CCTV कैमरे में कैद कबाड़ चोरों द्वारा की जा रही मारपीट की फुटेज पुलिस द्वारा मांगी गई है उसे उन्हे मुहैया कराया जा रहा है।
बीजक कुमार, AE ट्रांसमिशन कंपनी