दैनिक भास्कर हिंदी: गांववालों ने लिया फैसला- बेटियों की शादी उसी घर में करेंगे जहां टॉयलेट हो

June 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, सिरसा। हरियाणा के सिरसा जिले के गांव गोदिकां की पंचायत ने बेटियों के हित में एक प्रस्ताव पारित किया है। इसके तहत गांव के लोग अपनी बेटियों की शादी ऐसे परिवारों में नहीं करेंगे जिनके घरों में शौचालय नहीं है। जिला विकास और पंचायत ऑफिसर ने कहा है कि गांव में सभी घरों में टॉयलेट हैं, इसीलिए यहां के लोगों ने अपनी बेटियों को ऐसे घरों में ही ब्याहने का फैसला लिया है, जहां टॉयलेट बनी हुई हो। उन्होंने कहा कि पंचायत का यह फैसला अन्य ग्राम पंचायतों  को भी इस विषय पर बड़े फैसले लेने पर मोटिवेट करेगा।
 


गोदिकां पंचायत ने यह फैसला लेने के लिए 8 जून को एक बैठक बुलाई थी। गांव के सभी बिरादरी के लोग इस बैठक में शामिल हुए थे। यहां सर्वसम्मति से आठ जून को यह फैसला लिया गया। पंचायत के इस फैसले को अक्षय कुमार अभिनीत ‘टॉयलेट : एक प्रेम कथा’ से प्रेरित फैसला बताया जा रहा है, जिसमें अक्षय अपनी पत्नी के लिए घर में टॉयलेट बनवाने के लिए अपने पिता के साथ-साथ पूरे गांव के बड़े-बुजुर्गों से पंगे ले लेते हैं।

बता दें कि हरियाणा सरकार ने राज्य के ग्राम सरपंचों को स्वच्छता के बारे में जागरूक करने के लिए ‘टॉयलेट : एक प्रेम कथा’ फिल्म की विशेष स्क्रीनिंग की व्यवस्था भी की थी। गांव के सरपंच धर्मपाल मुंधलिया ने भी बताया कि गांव में 'टॉयलेट-एक प्रेमकथा' फिल्म देखने के बाद ही यह फैसला लिया गया और इस फैसले पर सभी गांववालों की सहमति है।

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने पंचायत के इस फैसले के लिए पूरे गांववालों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट कर कहा, 'खुले में शौच से पर्यावरण असुरक्षित होता है व गंभीर बीमारियां पनपती है,गांव गोदिकां के इस फैसले से हरियाणा का नाम पूरे देश में रौशन हुआ है, मैं प्रदेश के सारे गाँवों व पंचायतों का आह्वान करता हूँ कि ऐसे सकारात्मक संकल्प लें ताकि एक स्वच्छ परिवेश का निर्माण हो सके।'