दैनिक भास्कर हिंदी: SNCU वार्ड में लगी आग, फंसे बच्चों को निकालने चला रेस्क्यू आपरेशन, बड़ा हादसा टला

July 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, छतरपुर। जिला अस्पताल में बुधवार की रात उस समय अचानक अफरातफरी का माहौल निर्मित हो गया, जब नवजात बच्चों के लिए बनाए गए SNCU वार्ड में लगे एसी में अचानक शार्ट सर्किट होने से आग लग गई। जिस समय आग लगी उस समय वार्ड में तीन दर्जन से अधिक बच्चे भर्ती थे। गनीमत रहीं की आग से किसी बच्चे को नुकसान नहीं पहुंचा, नहीं तो छतरपुर में भी गोरखपुर कांड की पुनरावृत्ति हो सकती थी। 

बताया जा रहा है कि आग लगने से पूरे वार्ड में धुंआ भर गया था। जिससे कई नवजात बच्चों को सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा फायर ब्रिगेड के पहुंचने के पहले ही वार्ड में लगे फायर सिस्टम के सहयोग से आग पर काबू पा लिया गया। इस घटना में तीन बच्चों के झुलसने की भी खबर है।

 



बच्चों को किया गया निजी अस्पताल में शिफ्ट
एसएनसीयू वार्ड में आग लगने की वजह से वार्ड में भर्ती सभी बच्चों को शहर के प्राइवेट अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। बताया जा रहा है कि कुछ बच्चों को पीयूष बजाज के अस्पताल में शिफ्ट किया गया, तो कुछ बच्चों को शहर के अन्य निजी अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। आग की वजह से वार्ड के कई महत्वपूर्ण उपकरण भी प्रभावित बताए जा रहे है। अफरा-तफरी के बीच बच्चों की पहचान हाथ में लगे टैग से हो सकी।

बच्चों को लेकर भागे परिजन
जिस समय वार्ड में आग लगी उस समय वार्ड में अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया था। वार्ड में भर्ती बच्चों की जान बचाने के लिए बच्चों के परिजन बच्चों को लेकर वार्ड से बाहर भागे। परिजनों का कहना है कि जिस समय आग लगी उस समय पूरे वार्ड में धुंआ- धुंआ हो गया था। धुंए की वजह से कुछ बच्चों को सांस लेने में परेशानी का सामना करना भी पड़ा।

 



बच्चों को बचाने चला रेस्क्यू
जिस समय वार्ड में आग लगी उस समय वार्ड में तीन दर्जन से ज्यादा नवजात शिशु भर्ती थे। कुछ बच्चों के परिजन वार्ड से बच्चों को लेकर बाहर आए, लेकिन जो गंभीर रुप से घायल कुछ बच्चों को बाहर निकालना आसान नहीं था। लिहाजा जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने रेस्क्यू चलाकर गंभीर रूप से भर्ती बच्चों को अस्पताल से सुरक्षित बाहर निकाला। इस अफरा-तफरी भले माहौल में डॉक्टरों ने साहस का काम करते हुए किसी भी बच्चे को प्रभावित नहीं होने दिया।

 



मौके पर पहुंचे एसपी कलेक्टर
अस्पताल में हुए इस गंभीर हादसे की सूचना के बाद मौके पर कलेक्टर रमेश भंडारी एसपी विनीत खन्ना, एएसपी जयराज कुबेर ने मौके पर पहुंच कर हालात का जायजा लिया।
इस दौरान कलेक्टर ने मौके पर मौजूद चिकित्सकों से शर्ट शर्किट होने की वजह के बारे में भी बात की। हालांकि जिस समय वार्ड में आग लगी उस समय वार्ड में मौजूद डांक्टर रिषि दुबे ने वार्ड में लगे फायर सिस्टम को उपयोग कर आग पर काबू पाया।

इनका कहना है
वार्ड में भर्ती बच्चों को सुरक्षित निकाला गया है, कोई भी बच्चा हताहत नहीं हुआ है। बच्चों को परेशानी न हो इसके लिए निजी अस्पतालों में बच्चों को भर्ती कराया गया है। वार्ड में शार्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आ रही है, लेकिन आग क्यो लगी इसकी जांच के आदेश दिए गए है।
रमेश भंडारी, कलेक्टर