दैनिक भास्कर हिंदी: सकल तकनीकी एवं वाणिज्यिक हानियाँ कम करने के प्रयास तेज करें!

June 1st, 2021

डिजिटल डेस्क | ग्वालियर मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि ‘‘सकल तकनीकी एवं वाणिज्यिक हानियों‘‘ में कमी लाने के लिए व्यापक स्तर पर काम करने की जरूरत है। बिजनेस इंटेलिजेंस एवं सतर्कता अधिकारियों को हानियों में कमी लाने के लिए विजीलेंस चेकिंग, लोड के अनुसार संयोजित कनेक्शन, घरों के बाहर मीटर की स्थापना की जांच, कृषि क्षेत्र में एग्रीकल्चर पम्प को घोषित अवधि में निर्बाध विद्युत आपूर्ति, थेफ्ट प्रोन एरिया में चेकिंग, प्रत्येक उच्चदाब उपभोक्ता को जल्दी कनेक्शन और नए कनेक्शन के लिए अभियान एवं इनर्जी ऑडिट आदि गतिविधियाँ सघनता से चलाने की जरूरत है। फीडरों का इनर्जी ऑडिट सतत् प्रक्रिया का हिस्सा होना चाहिए, अस्थाई कनेक्शनों को स्थाई कनेक्शनों में बदलने का अभियान चलाना जरूरी है।

ए.एम.आर. आधारित मीटर की स्थापना तथा चेकिंग गतिविधियों में अनिवार्य रूप से आईटी आधारित अनुप्रयोगों का उपयोग किया जाए। उच्चदाब उपभोक्ताओं के परिसर में खराब मीटरिंग प्रणाली को अतिशीघ्र बदला जाए और सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं को नए कनेक्शन आसानी से तुरंत स्वीकृत किए जाएँ। इन सब कार्यों से बिजली के उपयोग के प्रत्येक यूनिट की गणना हो सकेगी। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा कि तकनीकी हानियाँ कम करने के लिए उपकरणों व लाईनों की गुणवत्ता पर ध्यान देने की जरूरत है।

इसी प्रकार यदि विद्युत उपकरणों एवं विशेष रूप से लाईनों पर भार बढ़ता है तो हानियाँ तेजी से बढ़ती हैं। कंपनी ने अधिकारियों से कहा है कि लाईनों व उपकरणों की क्षमता में भार के अनुसार वृद्धि की जानी चाहिए, जिससे कि हानियों को सीमित किया जा सके। वाणिज्यिक हानियों को कम करने के लिए खराब तथा जले मीटर तत्काल बदले जाएं। मीटर की रीडिंग समय पर निष्ठा एप से होना चाहिए। विद्युत के अवैध उपयोग की रोकथाम होना चाहिए। 11 के.व्ही. फीडरवार व ट्रांसफार्मरवार विद्युत हानियों की गणना की जाकर ज्यादा हानियों वाले क्षेत्र में सघन सतर्कता से गतिविधियाँ की जाने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...