comScore

तीन दिन गर्भगृह से बाहर रथ में विराजमान रहेंगे श्रीरामराजा सरकार, रथ यात्रा पर्व शुरू, हालांकि दर्शनों पर रहेगी रोक

तीन दिन गर्भगृह से बाहर रथ में विराजमान रहेंगे श्रीरामराजा सरकार, रथ यात्रा पर्व शुरू, हालांकि दर्शनों पर रहेगी रोक

मंदिर में निभाई जा रहीं 500 साल पुरानी परंपराएं, पूर्व में हजारों श्रद्धालु पहुंचते थे पैदल
डिजिटल डेस्क ओरछा ।
धार्मिक एवं पर्यटन नगरी के श्रीरामराजा मंदिर मेंं मंगलवार को रथयात्रा के पावन पर्व पर शाम 4 बजे श्रीरामराजा सरकार रथ पर विराजमान हुए। जगन्नाथ रथयात्रा के मौके पर श्रीरामराजा सरकार तीन दिन तक गर्भगृह के बाहर चौक में रथ पर विराजमान रहेंगे। मंगलवार को शाम 4 बजे विशेष आरती का आयोजन किया गया।आमतौर पर मंगलपुष्य व तीन दिवसीय रथ यात्रा के पावन पर्व पर श्रीरामराजा सरकार के दरबार में बुन्देलखंड भर से हजारों की संख्या में श्रद्धालु पैदल चलकर ओरछा पहुंचते थे, लेकिन कोरोना 
महामारी के संक्रमण के चलते प्रशासन द्वारा मंदिर में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर प्रतिबंध के कारण दरबार में सन्नाटा रहा।
मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज ने अन्य मंदिरों के पुजारियों की उपस्थिति में रथयात्रा पर्व पर शाम 4 बजे श्रीरामराजा सरकार की आरती की। इस अवसर पर मंदिर के प्रधान पुजारी द्वारा श्रीरामराजा सरकार का पुष्पों से विशेष शृंगार किया गया। दोपहर 12.30 बजे राज भोग आरती हुई। इसके बाद शाम चार बजे रथयात्रा पर्व पर मंदिर के चौक में रथ पर विराजमान श्रीराम, लक्ष्मण व जानकी जी की मनोहारी झांकी के साथ आरती का आयोजन किया गया। कोरोना काल के समय  श्रीरामराजा मंदिर में दर्शनार्थियों का प्रवेश बंद होने के बावजूद जिला प्रशासन व मंदिर प्रबंधन द्वारा मंदिर की 500 वर्ष पुरानी परंपराओं का पूरी तरह पालन किया जा रहा है। रथयात्रा के इस पावन पर्व पर श्रीरामराजा सरकार मंगलवार से तीन दिन तक मंदिर के चौक में घोड़ों के रथ में विराजमान होकर दर्शन देंगे।
 

कमेंट करें
iTAax