• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Strong storm devastates the dead, killing 2 - rural areas several km. Power supply lines destroyed

दैनिक भास्कर हिंदी: तेज आंधी ने उजाड़े आशियाने, 2 की मौत - ग्रामीण क्षेत्र कई किमी. लंबी बिजली सप्लाई लाइनें हुई तबाह

June 1st, 2020

डिजिटल डेस्क सिंगरौली (वैढऩ)। जिले में लगातार 5वें दिन आयी तेज आंधी, बारिश, ओलावृष्टि और आकाशीय बिजली ने ग्रामीण अंचल में खूब तबाही मचाई है। आकाशीय बिजली की चपेट में आने से जियावन थाना क्षेत्र में दो अलग-अलग स्थानों में दो लोगों की मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल हो गया है। मृतकों में एक ग्राम चरखी निवासी सुखमंती पिता सीता सिंह गोड़ 17 वर्ष बतायी जा रही है। जो शाम को अपने घर के पास बाड़ी में काम कर रही थी और उसी समय अचानक आकाशीय बिजली गिरी। जिसकी चपेट में आकर उसकी दर्दनाक मौत हो गई। दूसरा मृतक जियावन थाना क्षेत्र का ग्राम हर्राचंदेल निवासी छोटेलाल पिता जगलाल साकेत 32 वर्ष बताया जा रहा है। यह भी घर के बाहर कुछ काम रहा था और आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। घटना स्थल के पास ही यह इसका 12 वर्षीय पुत्र भी था, जो हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गया है। जियावन पुलिस से मिली जानकारी के घायल लड़के को देवसर शासकीय स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरी ओर कुछ देर के लिये तूफान का रूप लेते हुये तेज हवाओं ने जिले के रजमिलान, माड़ा, बरगवां, देवसर, सरई, चितरंगी से लेकर अन्य ग्रामीण हिस्सों में जमकर कहर बरपाया है। इसके कारण बिजली लाइनें तबाह हो गई हैं। कई जगहों पर कच्चे घरों के छप्पर भी तेज झोंके में उड़कर दूर जा गिरे और कई जगहों पर पेड़-पौधे भी उखड़कर धराशाई हो गये हैं।
ग्रामीण क्षेत्र में तबाह हुई बिजली लाइनें
तेज आंधी के कारण जिले के ग्रामीण अंचल में कई किमी. लंबी बिजली लाइनें तबाह हो गई हैं। सैकड़ों की संख्या में बिजली के खंभे हवा के तेज झोंके में या तो उखड़ गये हंै या फिर टूटकर क्षतिग्रस्त हो गये हैं। मिली जानकारी के अनुसार इस तबाही का सबसे भयावह मंजर देवसर, रजमिलान और माड़ा क्षेत्रों में बना है। इसके कारण इन तीनो क्षेत्रों में इक्का-दुक्का फीडरों को छोड़कर लगभग ज्यादातर फीडर प्रभावित हो गये हैं और इसके कारण बिजली सप्लाई भी ठप हो गई है। क्षतिग्रस्त लाइनों की स्थिति देखकर बिजली महकमे के जिम्मेदारों के होश उड़े हुये हैं। क्योंकि पिछले करीब 4 दिनों से लगातार आंधी-बारिश के कारण बिजली लाइनों के क्षतिग्रस्त होने की छोटी-बड़ी समस्या बनी हुई थी। लेकिन रविवार को तो पिछले कुछ दिनों में सबसे ज्यादा नुकसान हो गया है।
अन्य दिनों से ज्यादा ओले भी गिरे
पिछले कुछ दिनों के मुकाबले रविवार को जिले में सबसे ज्यादा ओलावृष्टि भी हुई। वैढऩ के पास देवरा, खुटार, हिर्रवाह, रजमिलान, माड़ा, मझौली, परसदेही समेत अन्य कई हिस्सों में ओलावृष्टि जिले के अन्य हिस्सों से ज्यादा ही होने की बात सामने आयी है। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ जगहों में तो काफी बड़ी साइज में ओले गिरे हैं।