अमरावती यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह कल: विद्यार्थियों को मिलेंगे 111 स्वर्ण व 22 रजत पदक

May 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, अमरावती । संत गाडगे बाबा अमरावती विश्वविद्यालय का 38 वां दीक्षांत समारोह बुधवार 25 मई को दोपहर 3 बजे छत्रपति शिवाजी महाराज सभागृह, पीडीएमसी, परिसर, अमरावती में होने जा रहा है। समारोह की अध्यक्षता राज्यपाल तथा विश्वविद्यालय के कुलपति भगतसिंह कोश्यारी करेंगे। राज्य के उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहकर विद्यार्थियों को संबोधित करेंगे। दीक्षांत समाराेह में विविध परीक्षा में सफल्ता प्राप्त करने पर मेधावी विद्यार्थियों को 111 स्वर्णपदक, 22 रजत पदक और 21 नकद पुरस्कार ऐसे कुल 154 पुरस्कारों का वितरण किया जाएगा। यह जानकारी कुलगुरु डॉ. दिलीप मालखेड़े ने दी है। वह सोमवार को विश्वविद्यालय में स्थित  अतिथि गृह में पत्र-परिषद में दी।

दीक्षांत समारोह के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 3 स्वर्णपदक के लिए और तीन नकद पुरस्कार के लिए कोई पात्र नहीं हुआ है। दीक्षांत समारोह में दिए जाने वाले मेडल व पुरस्कारों में सबसे अधिक मेडल व पुरस्कार शिवाजी कला, वाणिज्य व विज्ञान महाविद्यालय अकोट की छात्रा अश्विनी हागे ने प्राप्त किए हैं। अश्विनी को 5 स्वर्ण, 4 रजत और 2 नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह चांदुर बाजार के जी. सी. टोम्पे महाविद्यालय के किरण इंगले को 6 स्वर्ण और 1 नकद पुरस्कार संत गजानन महाराज अभियांत्रिकी महाविद्यालय शेगांव के निखिलेश जोशी को 5 स्वर्ण तथा डॉ. पंजाबराव देशमुख स्मृति वैद्यकीय महाविद्यालय अमरावती की अंकिता सातोने को 5 स्वर्ण, एक रजत और एक नकद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार प्राप्त करने वालों में 111 छात्राएं और 43 छात्र हैं। दीक्षांत समारोह में विद्यापीठ अंतर्गत शिक्षक व शोधार्थी संशोधन का कार्य कर रहे है। अब तक 4798 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि से सम्मानित किया गया है। 25 मई को होने वाले दीक्षांत समारोह में विद्या संकाय निहाय 210 संशोधकों को आचार्य पदवी देकर सम्मानित किया जाएगा। 

दीक्षांत समारोह का लाइव प्रसारण : 38 वें दीक्षांत समारोह कार्यक्रम का विद्यापीठ की वेबसाइट पर लाइव प्रसारण होगा। विद्यापीठ का दीक्षांत समाराेह लाइव देखने की सुविधा विश्वस्तर पर सभी संबंधित विद्यार्थियों को और अभिभावकों को उपलब्ध होगी। दीक्षांत समारोह में सभी ने बड़ी संख्या में उपस्थित रहने का आह्वान कुलगुरु डॉ. दिलीप मालखेड़े ने किया है।