• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The complainant attempted self-immolation in front of the police station - threatening to police

दैनिक भास्कर हिंदी: फरियादी ने थाने के सामने किया आत्मदाह का प्रयास - पुलिस दे रही झूठे केस में फंसाने की धमकी

October 15th, 2019

डिजिटल डेस्क सिंगरौली (वैढऩ)। वैढऩ से बाइक लेकर अमिलिया जाने को निकला ढोंटी निवासी उदय जायसवाल पिता अशोक जायसवाल उम्र 32 वर्ष पिछली 26 अगस्त से लापता है। उसके चाचा अनिरूद्ध जायसवाल का आरोप है कि वैढऩ पुलिस उसके भतीजे की पतासाजी करने में कोताही बरत रही है। लगभग डेढ़ महीने से थाने के चक्कर लगा रहे चाचा ने सोमवार की दोपहर वैढऩ थाने के सामने स्वयं पर मिट्टी का तेल छिडक़ कर आग लगाने की तैयारी में था, इसी बीच पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया और समझा बुझाकर शांत किया। इसके वाबजूद फरियादी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं था और बार-बार अपने भतीजे को खोजने की गुहार लगा रहा था। फरियादी ने आरोप लगाया कि बार-बार थाने आकर गुहार लगाने से परेशान पुलिस कर्मियों ने उसे धमकी दीहै कि ज्यादा नेतागिरी करोगे तो तुम पर भी कोई केस लगाकर अंदर कर देंगे। पुलिस से किसी प्रकार का सहयोग न मिलने पर उसने आत्म नियंत्रण खो दिया, जिसके बाद पुलिस की सांसें फूल गई। 
26 अगस्त से लापता है भतीजा
भतीजे उदय की खोज में चाचा अनिरूद्ध लगातार प्रयास कर रहा है और बार बार पुलिस से उसे खोजकर लाने की गुहार लगा रहा है। 26 अगस्त से लापता हुए उदय की गुमशुदगी भी 3 सितम्बर को वैढऩ थाने में दर्ज करायी गयी है। इस मामले में अमिलिया पुलिस ने अहम जानकारी दी थी जिसमें लापता युवक की बाइक और बैग 27 अगस्त को बरामद कर लिया गया था। उसके बाद से अमिलिया थाना पुलिस किसी प्रकार की जानकारी नहीं उपलब्ध करा पायी। वैढऩ थाना प्रभारी अरूण पांडेय बताते हैं कि उन्होंने सभी संभावित ठिकानों पर तलाश कर ली है। जिसकी पड़ताल केस डायरी में अंकित की गई है। युवक की बाइक जिस नदी के पुल से बरामद हुई है वहीं पर किसी दुर्घटना की आशंका जताई जा रही है। सभी दृष्टिकोण से घटना की पड़ताल की गई है। इसके बावजूद युवक का सुराग नहीं मिल पाया है।
इनका कहना है
युवक के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। सभी संभावित ठिकानों पर टीम भेजकर पतासाजी भी की गई है लेकिन अभी तक सुराग नहीं मिल पाया है। युवक के चाचा के द्वारा आत्मदाह करने की बात कही जा रही थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे अपनी गिरफ्त में ले लिया और समझाइश दी गई। मामले में जो भी संभावनाएं हंै उसे किया जायेगा, प्रयास अभी भी जारी हंै।
...अरूण कुमार पांडेय, टीआई वैढऩ
 

खबरें और भी हैं...