comScore

16 से जुलाई  से खुलेंगे श्रीरामराजा मंदिर के कपाट, ऑनलाइन बुकिंग पर ही दर्शन

16 से जुलाई  से खुलेंगे श्रीरामराजा मंदिर के कपाट, ऑनलाइन बुकिंग पर ही दर्शन

डिजिटल डेस्क  टीकमगढ़/निवाड़ी । ओरछा स्थित श्रीरामराजा सरकार मंदिर 16 से जुलाई से चार दिन आम श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा। दर्शनों के लिए मंदिर की वेबसाइट पर ऑनलाइन बुकिंग करनी होगी। दो पालियों में भक्तों को मंदिर में दर्शन कराए जाएंगे। सुबह 8 से दोपहर 12.30 बजे तक और शाम को रात 9.45 बजे के पहले दर्शन होंगे। निवाड़ी कलेक्टर ने आदेश जारी किया है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बिना मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा।
श्रीरामराजा मंदिर और हरदौल बैठका श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए 16 से 19 जुलाई तक खोला जाएगा। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकारी और मंदिर में कार्यरत कर्मचारियों को सात बिंदुओं पर सावधानी बरतने के निर्देश कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने दिए हैं। जिनमें मंदिर परिसर की सफाई, सेनेटाइजेशन, छोड़े गए मास्क-फेस कवर, ग्लब्स का समुचित निपटान, नियत गेट से ही प्रवेश एवं निकासी, श्री रामराजा सरकार की पोशाक की व्यवस्था और मंदिर परिसर के आसपास वाहनों का नियंत्रण शामिल है। कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिनका पालन करना अनिवार्य होगा। आदेश के उल्लंघन पर कार्रवाई की हिदायत दी गई है। 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं, 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों और बीमार व्यक्तियों को घर पर ही रहने की सलाह दी है।
श्रद्धालुओं को बरतनी होगी 21 सावधानी : न घंटी बजाएं, न मिठाई चढ़ाएं
ओरछा मंदिर में दर्शन की प्रक्रिया में श्रद्धालुओं को पालन करने के लिए 21 बिंदुवार सावधानियां निर्धारित की गई हैं। जिनमें मंदिर की वेबसाइट पर दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग, ओरछा में भी बुकिंग काउंटर, बुकिंग के लिए मोबाइल एप, टिकट और फोटोयुक्त परिचय पत्र साथ लाना, मोबाइल-कैमरा, पर्स, बेल्ट, बैग पर प्रतिबंध, जूते-चप्पल परिसर के बाहर रखना, दुकान-होटल पर फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन, चेहरे को मास्क, फेस कवर से ढांकना, सेनेटाइजेशन-थर्मल स्क्रीनिंग एवं आरोग्य सेतु एप जरूरी, विशेष दर्शन नहीं, दो श्रद्धालुओं के बीच न्यूनतम 2 गज की दूरी, मूर्तियों के दूर से दर्शन, मूर्ति-आरती पात्र को छूने से मनाही, मंदिर में घंटी बजाने पर पाबंदी, मिठाई-फूल, नारियल, अगरबत्ती, चादर, चुनरी आदि चढ़ाने पर रोक, परिसर में बैठकर गाने की अनुमति नहीं, मंदिर में प्रसाद-चरणामृत वितरण वर्जित, चढ़ावा केवल दान पेटी में डालना और मंदिर परिसर एवं बैठक परिसर में बैठना, रुकना प्रतिबंधित होगा। 
एक माह से बंद, चार दिन के लिए खुलेगा मंदिर
कोरोना संक्रमण काल में पहले 16 मार्च को ओरछा मंदिर में दर्शनों पर रोक लगाई गई थी। ढाई माह से अधिक समय बाद 8 जून को मंदिर के पट खोले गए थे। सीमित संख्या में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने वाले श्रद्धालुओं दर्शन कराए गए। निवाड़ी जिले में कोरोना संक्रमण बढऩे पर 14 जून से मंदिर में प्रवेश पर पाबंदी है। ओरछा के साथ ही अछरू माता मंदिर में आमजन के प्रवेश और दर्शनों पर रोक लगाई गई थी। मंदिर के पुजारियों द्वारा विधि-विधान से पूजा-अर्चना नियमित की जा रही है। अब 16 से 19 जुलाई तक मंदिर आम भक्तों के लिए खोला जाएगा। 20 से 31 जुलाई तक बंद रहेगा।
 

कमेंट करें
ZbJr0