दैनिक भास्कर हिंदी: जहां बसती थी जान वहीं निकले प्राण, पढ़ें क्या है पूरी खबर

December 20th, 2017

डिजिटल डेस्क, जमशेदपुर। जमशेदपुर में एक दिलदहला देने वाला हादसा हुआ है, जहां अपने ही फार्म हाउस की पावर मशीन में फंसकर एक व्यापारी की जान चली गई। उनकी मौत इनकी खौफनाक की देखने वालों का दिल दहल गया। घटना गालूडीह थाना क्षेत्र के भैरवथान स्थित लक्ष्मी फार्म हाउस की है। जहां सोमवार शाम पॉवर ट्रीलर मशीन स्टार्ट करते समय 48 वर्षीय बागुन नगर निवासी पार्थोजीत मिश्रा का पूरा शरीर मशीन में फंस गया। इस हादसे में उनकी मौके पर ही मौत हो गई। ये घटना शाम तकरीबन 4 बजे की है। 

ऐसे हुआ ये दर्दनाक हादसा

पार्थोजीत मिश्रा अपने फार्म हाउस में शाम 4 बजे के आसपास पावर ट्रीलर मशीन को स्टार्ट कर रहे थे, लेकिन पावर ट्रीलर पहले से गियर में था तो वो स्टार्ट होते ही पार्थोजीत की तरफ ही आगे बढ़ गया, ये सब इतना तेजी से हुआ की पार्थो भी समझ नहीं पाए। उनकी पैंट मशीन में फंस गयी और तेजी से घूमते पंखों ने पेंट के साथ उनके पैर को भी अंदर खींच लिया। उन्होंने हाथ से पैर को खींचने की कोशिश की, लेकिन इस कोशिश में वो और फंस गये और उनका हाथ भी मशीन के अंदर चला गया। जान बचाने की कोशिश में पार्थोजीत का पूरा शरीर मशीन में घुसता जा रहा था। 

खुद के फार्महाउस में गयी जान

आपको बता दें जिस फार्महाउस में पार्थोजीत ने अपनी जान गंवाई वो पार्थोजीत का था। जहां वो पोल्टी फार्म, मदर डेयरी और सब्जी की खेती करते थे। जिस समय ये घटना घटी उस समय फार्म में पार्थोजीत के अलावा सिर्फ मजदूर दिलीप पाल मौजूद था। जिसने इस पूरी घटना के बारे में सबको बताया। घटना की सूचना मिलते ही तुरंत हरकत में आई गालूडीह पुलिस मौके पर पहुंची और एसआई सुधांशु कुमार ने शव को कब्जे में लेकर जादूगोड़ा शवगृह पहुंचवाया। इस हादसे की खबर आग की तरह आस-पास के इलाकों में फैल गयी और सैकड़ों लोग भी मौके पर पहुंच गए।

जहां बसती थी जान वहीं निकले प्राण

पार्थोजीत की खेती बाड़ी में विशेष रूची थी। वो रोजाना शाम को यहां आते थे और खुद यहां काम किया करते थे। बता दें गालूडीह थाना क्षेत्र की सुवर्णरेखा नदी किनारे भैरव स्थान पर पार्थोजीत मिश्रा ने 4 एकड़ भूमि लेकर तीन साल पहले फार्म हाउस खोला था। पिछले 2 साल से वहां पोल्ट्री फार्म, मदर डेयरी और सब्जी उगाई जा रही थी। 

दो बच्चियों का पिता शादी से सीधा पहुंचा था फार्म

मृतक पार्थोजीत मिश्रा के परिवार के सदस्यों ने बताया पार्थोजीत सोमवार की सुबह ही अपनी भतीजी की शादी से पुरूलिया से लौटा थे। जिसके बाद वह अपने फार्महाउस गये थे। बता दें मेहनतकश पार्थो घर से ही लक्ष्मी टेवल्स भी चलाता है। उनकी दो बेटियां है जिनमें बड़ी बेटी अंकिता मिश्रा जमशेदपुर पब्लिक स्कूल में 12वीं का छात्रा है। जबकि छोटी बेटी सुमन साकची टैगोर सोसाइटी स्कूल में 7वीं कक्षा की छात्रा है।