comScore

कर्ज वसूली के दबाव में आकर युवक ने दी थी जान, दो आरोपियों पर केस दर्ज

कर्ज वसूली के दबाव में आकर युवक ने दी थी जान, दो आरोपियों पर केस दर्ज

डिजिटल डेस्क बड़ागांव । थाना क्षेत्र के अंतौरा गांव में 5 सितम्बर को सपेरे वाले हार में नीम के पेड़ रस्सी के फंदे से 38 वर्षीय युवक का शव लटका मिला था। मामले में मर्ग कायम कर पुलिस ने विवेचना में लिया था। जांच के दौरान पुलिस ने अंतौरा निवासी मनोज और चऊदा अहिरवार के खिलाफ धारा 306, 34 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है।
मिली जानकारी के अनुसार 5 सितम्बर को बिहारी पुत्र धुरी अहिरवार निवासी अन्तौरा ने बड़ागांव थाना में सूचना दी थी। जिसमें बेटे जानकी अहिरवार (38) के सपेरे वाले हार में नीम के पेड़ पर रस्सी से फांसी पर लटके होने की जानकारी दी थी। बड़ागांव पुलिस ने धारा 174 में मर्ग कायम कर जांच के लिए प्रधान आरक्षक हरिसिंह यादव को प्रकरण सौंपा था। जांच के दौरान मृतक के पिता बिहारी, मां पानबाई, भाई राजेश अहिरवार, लड़की आरती अहिरवार, मृतक की पत्नी ममता अहिरवार एवं अन्य साक्षी सुन्दर ठाकुर, थोवन आदिवासी, प्रान सिंह यादव के कथन लिए गए। जिसमें पाया गया कि जानकी अहिरवार अत्यधिक शराब पीता था। गांव व आसपास के लोगों से कर्जा लेता था। करीब एक वर्ष पहले जानकी ने अंतौरा के चऊदा अहिरवार से एक लाख रुपये कर्जा लिया था। चऊदा अहिरवार व मनोज अहिरवार द्वारा जानकी से कर्जा वसूलने के लिए दबाव बनाने और धमकाने की बात सामने आई है। चऊदा व मनोज अहिरवार द्वारा कर्ज के एवज में जानकी से लगातार चार-पांच दिन जबरदस्ती काम करवाना भी जांच में पाया गया है। जिसके कारण तनाव में आकर जानकी ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने आरोपी चऊदा अहिरवार एवं मनोज अहिरवार निवासी अंतौरा के खिलाफ प्रथम दृष्ट्या अपराध धारा 306, 34 दर्ज किया है।

कमेंट करें
LlptV