दैनिक भास्कर हिंदी: नरसिंहपुर जिला सीमा पर दूधी नदी में रेत को लेकर हुए खूनी संघर्ष मामले में दो दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली

May 30th, 2021

होशंगाबाद के बनखेड़ी में धनलक्ष्मी कंपनी के कर्मचारियों पर मामला दर्ज
डिजिटल डेस्क नरसिंहपुर । गुरुवार-शुक्रवार दरम्यानी रात जिले की सीमा पर बहने वाली दूधी नदी में रेत ठेका कंपनियों के कर्मचारियों के बीच हुए खूनी संघर्ष में सालीचौका के साथ होशंगाबाद जिले की बनखेड़ी पुलिस के भी हाथ खाली हैं। बनखेड़ी (होशंगाबाद) में रहटवाड़ा निवासी अशोक रघुवंशी के ट्रैक्टर चालक कमलेश मेहरा ने नरसिंहपुर जिले की रेत ठेका कंपनी धनलक्ष्मी के कर्मचारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।
शनिवार को सामने आई इस काउंटर केस की जानकारी देते हुए बनखेड़ी थाना प्रभारी उमेश तिवारी ने बताया कि, घटना वाली रात कमलेश पिता रमेश मेहरा (रहटवाड़ा) ने धनलक्ष्मी कंपनी के कर्मचारी गजेंद्र सिंह राजपूत और तीन-चार अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत के अनुसार वह रेत भरने के लिए दूधी नदी की सीमा पर खड़ा था कि धनलक्ष्मी कंपनी के कर्मचारियों ने अपनी हद बताते हुए उसे रेत भरने से रोक दिया। अपशब्द कहे, थप्पड़-मुक्कों से मारपीट की तथा जातिसूचक शब्दों का उपयोग करते हुए अपमानित किया। पुलिस ने कमलेश की शिकायत पर धारा 294, 323, 506,34-3(1) द 3(1)ध 3 (2) व्हीए एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। धनलक्ष्मी कंपनी के कर्मचारियों द्वारा होशंगाबाद की रेत ठेका कंपनी आरकेटीसी के कर्मचारियों पर सालीचौका में मामला दर्ज कराया गया था।
दोनों का एक ही जवाब
खूनी संघर्ष की इस घटना को हुए दो दिन हो गए हैं लेकिन पुलिस के हाथ खाली हैं। सालीचौका तथा बनखेड़ी पुलिस का एक ही जवाब है कि, आरोपियों की पतासाजी की जा रही है। फायरिंग व दो कर्मचारियों के अपहरण के आरोपों को लेकर भी पुलिस अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है।
अपहृत पहुंचे बनखेड़ी थाना
सालीचौका में दर्ज कराई गई शिकायत में धनलक्ष्मी कंपनी द्वारा अपने जिन दो कर्मचारियों जसकरण सिंह एवं सतवीर लाठी को बंधक बना कर ले जाने का आरोप आरकेटीसी कंपनी के कर्मचारियों पर लगाया था, उन दोनों के घटना वाली रात ही बनखेड़ी थाना पहुंचने की बात सामने आई है। गाडरवारा एसडीओपी ओ.पी. त्रिपाठी के अनुसार, अपहृत हुए दोनों व्यक्ति बनखेड़ी थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे थे। वहां क्या शिकायत हुई उसे लेकर उन्हें बुलाया गया था, लेकिन वह अभी तक सामने नहीं आए हैं।