दैनिक भास्कर हिंदी: आतंक का पर्याय बने दो हाथी झिरपा परिक्षेत्र पहुंचे

March 6th, 2020

डिजिटल डेस्क  झिरपा/छिंदवाड़ा -नरसिंहपुर जिले के जंगलों में आतंक का पर्याय बने दो हाथियों ने बुधवार को छिंदवाड़ा जिले में झिरपा के जंगलों की ओर रुख किया। जंगली हाथियों की मौजूदगी से चावलपानी-गाडरवाड़ा मार्ग असुरक्षित हो गया है।वन विभाग ने सुरक्षा तैयारी करते हुए गुरुवार को सीमांत गांवों में रहने वाले ग्रामीणों को सचेत करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर नोटिस चस्पा किया। बुधवार को जंगली हाथियों की मौजूदगी झिरपा वन परिक्षेत्र अंतर्गत चावलपानी के समीप दुधी नदी के समीप कौंडी खारा गांव के जंगल में दर्ज हुई है। इन जंगली हाथियों की मौजूदगी से परिक्षेत्र के 20 गांवों में ग्रामीणों को सचेत किया गया। तामिया एसडीओ-फारेस्ट आरएस चौहान और वन परिक्षेत्र अधिकारी रघुवंशी सिंह ने ग्रामीणोंं के बीच पहुंचकर उनसे चर्चा कर जंगली हाथियों की मौजूदगी को लेकर लाउड स्पीकर से सचेत करते हुए पर्चे भी बांटे।
इनका कहना है
जंगली हाथियों के मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। झिरपा परिक्षेत्र की सीमा पर स्थित लगभग 20 गांवों में ग्रामीणों को सचेत किया गया है।
आरएस चौहान एसडीओ-फारेस्ट, तामिया
 

खबरें और भी हैं...