दैनिक भास्कर हिंदी: उधारी के रुपए मांगने पर चाचा और चचेरे भाइयों ने पीट-पीटकर कर दी युवक की हत्या

June 17th, 2020

डिजिटल डेस्क छतरपुर । शहर के ओरछा रोड थाना क्षेत्र के रमनपुरा गांव  एक युवक की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस युवक की हत्या उसके सगे चाचा, चाचा और बुआ के लड़कों द्वारा की गई। चाचा मृतक और उसकी बहन से रुपए उधार लिए था। रुपए मांगने पर उसने हमला कर दिया। चार आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला ओरछा रोड थाना में दर्ज किया गया है। इनमें से एक आरोपी को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया है।
महिलाओं पर भी लगाए मारपीट के आरोप
मृतक पूरन के पिता झल्लू कुशवाहा ने बताया कि उसके बेटे को न केवल हीरालाल, गोकरण, चैनू और चरन कुशवाहा द्वारा पीटा गया, बल्कि इस हत्या में हीरालाल के परिवार की जनका, बिनई और सुधा भी शामिल रहीं। इन तीनों महिलाओं ने भी मारपीट की है। टीआई दांगी ने बताया कि फिलहाल चार आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। विवेचना में अगर महिलाओं द्वारा हमला किए जाने की पुष्टि होगी तो उनके नाम जोड़े जाएंगे।
क्या है मामला :  उधारी के रुपए मांगने पर हुआ था विवाद
ओरछा रोड थाना क्षेत्र के रमनपुरा में झल्लू कुशवाहा के 37 वर्षीय बेटा पूरन कुशवाहा की मंगलवार की सुबह 7 बजे लाठियों से पीटकर हत्या कर दी गई। घटना के संबंध में ओरछा रोड टीआई अरविंद सिंह दांगी ने बताया कि पूरन कुशवाहा के घर में मंगलवार को कन्या भोज, कथा व पूजन था। इस दौरान परिवार के लोगों का भी भोजन था। सुबह 7 बजे सभी मौके पर जुड़े हुए थे। इस दौरान पूरन कुशवाहा ने अपने चाचा हीरालाल कुशवाहा से उधार दिए रुपए की मांग की। मृतक पूरन के पिता झल्लू ने बताया कि पूरन ने 50 हजार और पूरन की बहन ने एक लाख रुपए अपने चाचा हीरालाल को उधार दिए थे, वह अब रुपए नहीं लौटा रहा था। इस पर पूरन ने मंगलवार की सुबह सभी के सामने रुपए की मांग की। इस पर विवाद बढ़ गया। मुंहवाद होने के बाद पूरन अपने खेत पर चला गया। इस बात की जानकारी हीरालाल के बेटा चैनू और चरन को लगी कि पूरन से सभी के सामने उसके पिता से तकादा किया है। चैनू और चरन अपने बुआ के लड़के गोकरण कुशवाहा निवासी सीगौन को साथ लेकर उस खेत पर पहुंच गए, जहां पर पूरन काम कर रहा था। वहां जाकर इन तीनों ने उसे पकड़ लिया और लाठी-डंडों से मारते हुए, उसे गांव तक ले आए। यहां हीरालाल ने भी पूरन के साथ जमकर मारपीट की। चारों आरोपियों द्वारा लाठी-डंडों से पीटे जाने से पूरन की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर टीआई अरविंद सिंह दांगी रमनपुरा गांव पुलिस बल के साथ पहुंचे। इस दौरान हीरालाल, चरन और गोकरण घटनास्थल से फरार हो चुका था और चैनू भागने की तैयारी में था। पुलिस ने मौके से चैनू को गिरफ्तार कर लिया।

 

 

खबरें और भी हैं...