comScore

उप्र/हापुड़: 6 साल की बच्ची से रेप के आरोपी का मिला सुसाइड नोट, लिखा- मुठभेड़ में नहीं मरना चाहता

उप्र/हापुड़: 6 साल की बच्ची से रेप के आरोपी का मिला सुसाइड नोट, लिखा- मुठभेड़ में नहीं मरना चाहता

डिजिटल डेस्क, अमरोहा। उत्तर प्रदेश के हापुड़ में एक 6 साल की मासूम के साथ दंरिदगी करने वाला आरोपी अब तक पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है, लेकिन इसी बीच अमरोहा पुलिस को दुष्कर्म के आरोपी दलपत के कपड़े, एक पहचान पत्र और कथित रूप से एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें आरोपी ने लिखा है, मैं जानता हूं मुझे मुठभेड़ में मार दिया जाएगा और मैं इस तरह से मरना नहीं चाहता हूं। मैं अपने जीवन को समाप्त करने के लिए खुद अपना साधन चुनूंगा। कृपया मेरे बच्चों को परेशान न करें।

जांच को गुमराह करने का प्रयास हो सकता है यह नोट
हालांकि सुसाइड नोट को लेकर पुलिस का यह भी मानना है कि, यह जांच को गुमराह करने का प्रयास भी हो सकता है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, जब तक हम आरोपी या उसकी बॉडी को नहीं ढूंढ लेते हैं या शरीर को नष्ट करने के सबूत नहीं मिलते, तब तक हम सुसाइड नोट पर भरोसा नहीं करेंगे। इसके अलावा सुसाइड नोट पर उसकी लिखावट का मिलान करने की कोशिश भी की जा रही है।

हापुड़ रेप केस: 6 साल की बच्ची से दरिंदगी, प्राइवेट पार्ट डैमेज, आरोपी अब भी फरार, पुलिस ने जारी किए तीन स्कैच

यह सुसाइड नोट अमरोहा के महमूदपुर गांव के पास मिला है। इसी गांव में आरोपी दलपत सिंह रहता था। सुसाइड नोट तब सामने आया, जब पुलिस ने आरोपियों के संबंध में कोई भी जानकारी देने पर 50 हजार रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की। पुलिस तीन स्केच की मदद से आरोपियों को पकड़ रही थी। कथित तौर पर ग्रामीणों ने आरोपी के पैतृक गांव के बाहरी इलाके में देशी शराब के ठेके के पास उसे धर दबोचा था और पुलिस को इसकी सूचना भी दे दी थी, लेकिन जब तक पुलिस मौके पर पहुंची आरोपी भाग गया था।

हापुड़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) सर्वेश मिश्रा ने कहा, गजरौला की फर्म में जहां आरोपी काम करता था, वहां ट्राउजर, शर्ट और पहचान पत्र मिला है। जबकि महमूदपुर गांव से लगभग एक किमी दूर फतेहपुर गांव के बाहरी इलाके में एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है।

घर के बाहर से मासूम को किया था अगवा
दरअसल मामला 6 अगस्त का है। हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र में बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी। कथित तौर पर मोटरसाइकिल पर सवार दलपत ने बच्ची का अपहरण कर लिया। बच्ची के लापता होने के बाद माता-पिता ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने तलाश शुरू की।

अपहरण के दूसरे दिन बेहोशी की हालत में मिली बच्ची 
पुलिस को बच्ची अगली सुबह (7 अगस्त) खून से लथपथ बेहोशी की हालत में उसके गांव से थोड़ी ही दूर पर झाड़ियों में मिली। लड़की को तुरंत मेरठ के एक विशेष अस्पताल में ले जाया गया जहां मेडिकल जांच में उसके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई। मेरठ मेडिकल कॉलेज में रविवार (9 अगस्त) को बच्ची की आंत का ऑपरेशन किया गया, जोकि सफल रहा।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. धीरज बालियान ने बताया था, बच्ची को अंदरूनी और बाहरी चोटें लगी थीं। उसे ठीक होने में लंबा वक्त लगेगा। डॉक्टरों ने बताया था, बच्ची के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोटें आई हैं। बुरी तरह से डैमेज हो चुका है। मल-मूत्र के लिए अलग से एक सर्जिकल ट्यूब तक डाली गई।

हालांकि घटना के बाद से ही पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। दरिंदे को पकड़ने के लिए पुलिस ने तीन स्कैच जारी किए थे। चश्मदीदों के बताए गए हुलिए के आधार पर तीनों स्कैच बनाए गए थे। इसके बाद हापुड़ पुलिस ने आरोपी पर 50 हजार का इनाम घोषित किया। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें पिछले कई दिनों से दबिश दे रही हैं, लेकिन आरोपी फरार है।

कमेंट करें
4v3wd