• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Uttar Pradesh Hapur rape case 6 year old girl kidnapped and Raped victim extremely critical police release sketches of accused

दैनिक भास्कर हिंदी: हापुड़ रेप केस: 6 साल की बच्ची से दरिंदगी, प्राइवेट पार्ट डैमेज, आरोपी अब भी फरार, पुलिस ने जारी किए तीन स्कैच

August 10th, 2020

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में छह साल की एक बच्ची का अपहरण कर उसके साथ बर्बरतापूर्वक दुष्कर्म किया गया। इस घटना के चार दिन बाद भी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। हालांकि दरिंदों को पकड़ने के लिए पुलिस ने तीन स्कैच जारी किए हैं। चश्मदीदों के बताए गए हुलिए के आधार पर तीनों स्कैच बनाए गए हैं। वहीं पीड़िता की हालत गंभीर बनी हुई है। रेप इतनी क्रूरता से किया गया है कि, मासूम के प्राइवेट पार्ट बुरी तरह डैमेज हो गए। फिलहाल पीड़िता का इलाज मेरठ मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। डॉक्टरों का कहना है, बच्ची की आंत का ऑपरेशन सफल रहा। 

घर के बाहर से मासूम को किया अगवा
दरअसल मामला 6 अगस्त का है। जानकारी के मुताबिक, हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र में बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी। कथित तौर पर मोटरसाइकिल पर सवार एक व्यक्ति ने बच्ची का अपहरण कर लिया। बच्ची के लापता होने के बाद माता-पिता ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने तलाश शुरू की।

अपहरण के दूसरे दिन बेहोशी की हालत में मिली बच्ची 
पुलिस को बच्ची अगली सुबह खून से लथपथ बेहोशी की हालत में उसके गांव से थोड़ी ही दूर पर झाड़ियों में मिली। लड़की को तुरंत मेरठ के एक विशेष अस्पताल में ले जाया गया जहां मेडिकल जांच में उसके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई।मेरठ मेडिकल कॉलेज में रविवार को बच्ची की आंत का ऑपरेशन किया गया, जोकि सफल रहा। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. धीरज बालियान ने बताया, बच्ची को अंदरूनी और बाहरी चोटें लगी थीं। 

बच्ची की और सर्जरी करने की जरूरत
डॉक्टरों का कहना है, उसकी हालत स्थिर है लेकिन अभी खतरे से बाहर नहीं है। डॉक्टरों ने कहा, लड़की के साथ निर्भया मामले की तरह ही क्रूर तरीके से दुष्कर्म किया गया है। मेरठ मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. एस.के गर्ग ने कहा, उसे ठीक होने में लंबा वक्त लगेगा। बच्ची की और सर्जरी करने की आवश्यकता होगी।

डॉक्टरों ने बताया, बच्ची के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोटें आई हैं। बुरी तरह से डैमेज हो चुका है। खून ज्यादा बहने के कारण बच्ची की हालत नाजुक बनी हुई है। प्राइवेट पार्ट इतना डैमेज है कि सर्जरी करने तक की कंडीशन नहीं है। मल-मूत्र के लिए अलग से एक सर्जिकल ट्यूब डाली गई है।

हापुड़ के एसपी संजीव सुमन ने कहा, वे अभी तक बच्ची की मेडिकल स्थिति के कारण उसका बयान दर्ज नहीं कर पाए हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छह टीमें बनाई गई हैं। वहीं इस घटना को लेकर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

 

 

खबरें और भी हैं...