दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस कस्टडी में 28 साल के युवक की मौत!  ऊंची जाति की लड़की से करता था प्यार 

December 12th, 2020

डिजिटल डेस्क (भोपाल)  योगी सरकार में उत्तरप्रदेश में अराजकता चरम पर है। अब एक युवक की पुलिस लॉकअप में मौत से एक बार फिर यूपी पुलिस पर सवाल खड़े हो गए है। कहा जा रहा है कि युवक की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने ऊंची जाति की लड़की से प्यार कर लिया।  जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में खुर्जानगर थाना क्षेत्र में सोनू नाम के एक शख्स के परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का कहना है 11-12 दिसंबर की दरम्यानी रात सोनू की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई और उसके बाद प्रशासन ने बिना पोस्टमॉर्टम के ही जबरन उसका अंतिम संस्कार करा दिया। 

एक पत्रकार ने भी ट्वीट करते हुए लिखा है कि बुलंदशहर का सोमदत्त कुछ दिन पहले ऊंची जाति की अपनी प्रेमिका को लेकर फरार हो गया था। 8 दिसंबर को परिजनों ने दोनों को पुलिस के सुपुर्द कर दिया। इसके बाद कोर्ट में प्रेमिका ने सोमदत्त के पक्ष में बयान दिया। इसके बाद दूसरे दिन सुबह पुलिस सोमदत्त की लाश लेकर आई और जबरन उसका अंतिम संस्कार करा दिया। 

वहीं, बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि ‘थाना खुर्जानगर के कनैनी गांव में असफल प्रेम संबंध में सोनू उर्फ सोमदत्त, उम्र 28 साल, के द्वारा आत्महत्या किए जाने और उसके शव का अंतिम संस्कार बिना पोस्टमॉर्टम के किए जाने की बात प्रकाश में आई है।’ हालांकि, स्थानीय पुलिस का कहना है कि सोनू ने आत्महत्या की थी और उसके परिजनों ने ही गांव वालों की मौजूदगी में उसका अंतिम संस्कार किया है। 

पुलिस का कहना है कि 6 दिसंबर को सोनू गांव की एक लड़की को अपने साथ भगा ले गया था, जिसकी एक-दो दिन बाद शादी थी। फिर दोनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में बयान दर्ज कराया गया, जहां लड़की के द्वारा अपने परिजनों के साथ जाने की इच्छा व्यक्त की गई और लड़के के खिलाफ कोई कार्रवाई न करने की बात कही गई थी। उसके आधार पर लड़की को उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया था और लड़के को उसके भाई अनिल और सुनील की सुपुर्दगी में दे दिया गया था।