दैनिक भास्कर हिंदी: यूपी पुलिस ने चंदला विधायक के बेटों पर दर्ज किया डकैती का मामला, एमपी पुलिस ने जीरो पर की कायमी

June 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, छतरपुर। गौरिहार तहसील अंतर्गत रामपुर गांव में रेत को लेकर बुधवार को हुए गैंगवार को लेकर यूपी की पुलिस ने चांदला के भाजपा विधायक आरडी प्रजापति के दो बेटों कमलेश व बृजेश पर डकैती का मामला दर्ज किया है। वहीं छतरपुर पुलिस ने अवैध उत्खनन से इंकार किया और यूपी के अज्ञात रेत माफियाओं के खिलाफ जीरो पर कायमी कर मामले से पल्ला झाड़ लिया है।

इसी मामले में दूसरी तस्वीर पेश की है यूपी की गिरमा थाना पुलिस ने, जिसने डिजियाना कंपनी के प्रबंधक की शिकायत पर चंदला विधायक आरडी प्रजापति के दो बेटों कमलेश व बृजेश पर डकैती का मामला दर्ज किया है। बता दें कि बुधवार दोपहर रेत को लेकर रामपुर गांव में करीब 100 राउंड गोलियां चली थीं, इसमें भाजपा विधायक प्रजापति के करीबी रुद्र पटेल को दो गोलियां लगी थी। रुद्र पटेल की रिपोर्ट पर लवकुशनगर में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्राणघातक हमले और बलवा का मामला जीरो पर कायम किया गया है।

उधर बांदा जिले के गिरमा थाने में विधायक आरडी प्रजापति के दो बेटों सहित 11 नामजद और करीब 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ पांच लाख रुपए की डकैती का मामला दर्ज किया गया है।

डिजियाना की शिकायत पर हुआ मामला दर्ज
मप्र-उप्र की सीमा पर केन नदी की उप्र सीमा की कुलावल घाट रेत खदान का संचालन डिजियाना कंपनी कर रही है। इसी खदान के सामने केन नदी के दूसरे छोर मप्र की तरफ रामपुर गांव है। यहां बुधवार को हुई गोलीबारी की वजह दोनों ही प्रदेशों की पुलिस नहीं बता रही। अलबत्ता उत्तरप्रदेश के बांदा जिले के गिरमा थाने में डिजियाना कंपनी के मैनेजर विनोद कुमार ने मप्र के चंदला विधायक आरडी प्रजापति के बेटों कमलेश व बृजेश प्रजापति, पूर्व विधायक प्रतिनिधि रुद्र पटेल, आशीष निगम, लखन, जग प्रसाद, वंशीधर, राजाराम, पप्पू, रामपाल सहित 11 नामजद और दर्जन भर से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ डकैती का मामला दर्ज कराया है।

गिरमा थाना प्रभारी नीरज यादव ने बताया कि डिजियाना के मैनेजर ने थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उक्त लोग कंपनी की कुलावल खदान के काउंटर पर हथियार लेकर आए, फायरिंग की और पांच लाख रुपए लूट ले गए। बकौल थाना प्रभारी- फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं।

फर्जी मामला बनाया गया
अपने बेटों सहित करीब दो दर्जन समर्थकों पर डकैती का मामला दर्ज होने पर विधायक आरडी प्रजापति ने कहा कि उप्र पुलिस ने फर्जी मामला बनाया है। बकौल भाजपा विधायक- उनके दोनों बेटे (कमलेश व बृजेश) कभी रामपुर गए ही नहीं। उन्होंने घटना के समय उनके बेटे कमलेश के छतरपुर स्थित पेप्टेक टाउन स्थित निवास पर होने एवं बृजेश के रिश्तेदारी में अपनी पत्नी को लेने जाने की बात कही है।

तहसीलदार और थाना प्रभारी नपे
बुधवार को हुई गैंगवार की घटना के बाद गुरुवार को कलेक्टर रमेश भंडारी और एसपी विनीत खन्ना रामपुर गांव पहुंचे। एसपी विनीत खन्ना ने बताया कि फिलहाल रामपुर में किसी भी प्रकार का उत्खनन नहीं हो रहा है और बुधवार को कुलावल खदान से फायरिंग हुई थी इस गोलीबारी में एक व्यक्ति के घायल होने और गांव में फायरिंग के निशान मिलने की बात भी एसपी ने कही है। 

इस बीच 15 जून के बाद पूरे प्रदेश में रेत का उत्खनन बंद होने के बावजूद 20 जून को रामपुर घाट पर सीमांकन करने पहुंचे तहसीलदार रामकिशोर झरबरे को कलेक्टर भंडारी ने गुरुवार को वहां से हटा दिया है। उन्हें कलेक्टोरेट अटैच किया गया है। इसी मामले में गोयरा थाना प्रभारी बलराम सिंह राठौर को एसपी विनीत खन्ना ने लाइन अटैच कर दिया है।

गोयरा की कमान एसआई मुकेश शाक्य को सौंपी गई है। तहसीलदार व टीआई के साथ प्रतिबंधित खनन अवधि में खदान का सीमांकन करने पहुंचे खनिज निरीक्षक गणेश विश्वकर्मा पर क्या कार्रवाई प्रस्तावित की गई है और की भी गई है या नहीं, यह प्रशासन द्वारा स्पष्ट नहीं किया गया है।