comScore

गांजा पकडऩे जबलपुर से आई एसटीएफ पर ग्रामीणों ने हमला बोला- आरोपी छुड़ाए

गांजा पकडऩे जबलपुर से आई एसटीएफ पर ग्रामीणों ने हमला बोला- आरोपी छुड़ाए

डिजिटल डेस्क  रीवा । खरीदार बनकर गांजा की बड़ी खेप पकडऩे जबलपुर से आई एसटीएफ टीम पर ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। इस घटनाक्रम के चलते हाथ आए तीन आरोपी एसटीएफ की पकड़ से छूट गए, हालांकि गांजा जब्त करने में टीम सफल रही। जिले के बैकुण्ठपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत सलैया गांव से गांजा का व्यापक स्तर पर कारोबार होने की जानकारी पर जबलपुर एसटीएफ की टीम धरपकड़ के लिए यहां पहुंची थी। 
ग्राहक बनकर पकड़ा आरोपी
जानकारी के अनुसार एसटीएफ के छह सदस्यीय दल ने गांजा के तस्करों को पकडऩे के लिए  इनसे ग्राहक बनकर सम्पर्क किया। गांजा का सौदा तय होने के बाद रात के अंधेरे में ग्राहक बनकर पहुंची एसटीएफ टीम ने जैसे ही गांजा अपने कब्जे में लेने के साथ ही तीन आरोपियों को  दबोचकर वहां से निकलना चाहा, तभी ग्रामीणों ने पथराव करते हुए हमला कर दिया। बताते हैं कि इस दौरान तीनों आरोपी एसटीएफ की पकड़ से छूट गए। यहां से एसटीएफ अपने दोनों वाहनों से किसी तरह वहां से जान बचाकर भागी। एसटीएफ ने  सगरा थाना पहुंचने के बाद राहत की सांस ली। रात में थाना में ही गांजा को सुरक्षित कराया गया। इसके बाद सुबह होते ही फिर एसटीएफ हरकत में आई और बैकुण्ठपुर और सगरा थाना के साथ मिलकर गांजा के आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। 
पिता और चाचा फरार
गुरूवार को एसटीएफ जबलपुर की टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर गांजा तस्करी के एक आरोपी  को दबोच लिया है। पकड़े गए आरोपी का नाम गौरव सिंह ठाकुर पिता साधू  सिंह बताया गया है। गौरव के पिता साधू और चाचा पप्पू भी आरोपी है। इनकी तलाश जारी है। एसटीएफ टीम  की मानें तो गांजा मामले की एफआईआर एसटीफ भोपाल में दर्ज की जाएगी।
एसटीएफ की जुबानी
जबलपुर से आई एसटीएफ टीम का नेतृत्व कर रहे एएसआई एसके सोनी  ने बताया कि सलैया गांव से गांजा की तस्करी व्यापक पैमाने पर होने की जानकारी पर यहां धरपकड़ के लिए स्थानीय पुलिस के साथ एसटीएफ पहुुंची। हम लोग सादी वर्दी में थे, इसलिए ग्रामीणों ने चोर समझ लिया। इन्होंने कहा कि नहर के किनारे गांजा छिपाकर रखा गया था। लगभग सत्तर किलो गांजा जब्त हुआ है। गांजा तस्करी के मामले में एक आरोपी पकड़ में आया है। पकड़े गए आरोपी गौरव सिंह के पिता साधू सिंह एवं चाचा पप्पू सिंह की तलाश अभी चल रही है। बैकुण्ठपुर और सगरा पुलिस के साथ एसटीएफ लगी हुई है। हालांकि ग्रामीणों द्वारा हमला कर आरोपियों के छुड़ाए जाने की बात से उन्होंने इंकार किया है। 

कमेंट करें
dGODC