दैनिक भास्कर हिंदी: 50 लाख के चने को लेकर गोदाम संचालक और व्यापारी भिड़े, पहला छत से कूदा तो दूसरे ने की आग लगाने की कोशिश

June 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क छतरपुर/ हरपालपुर । नगर की राजपूत कालोनी में स्थित एक गेहूं गोदाम में रखे चने के मालिकाना हक को लेकर गोदाम संचालक और एक व्यापारी के बीच जमकर विवाद हुआ। इतना ही नहीं चने के लिए गोदाम संचालक अशोक गुप्ता जहां गोदाम की छत में चढ़कर ट्रक में कूद गए, वहीं गल्ला व्यापारी हीरालाल ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगाने का प्रयास किया। कॉलोनी में यह हाई वोल्टेज ड्रामा अधिकारियों की मौजूदगी में घंटों चलता रहा, लेकिन किसी भी अधिकारी ने गोदाम संचालक व गल्ला व्यापारी के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया।
क्या है पूरा मामला
दरअसल 4 मार्च को तहसीलदार बीपी सिंह को सूचना मिली थी कि गोदाम में अवैध रूप से 12 सौ क्विंटल चना जिसकी कीमत 50 लाख रुपए है रखा गया है। सूचना के बाद तहसीलदार ने गोदाम संचालक अशोक गुप्ता से चने के बारे में फोन पर जानकारी ली तो उसने उस समय बताया था कि चना हीरालाल राय पिता धर्मदास राय का है। चने के बारे में जानकारी लेने के लिए जब हीरालाल को बुलाया गया था तो उसने उस समय चने से संबधित किसी भी तरह के दस्तावेज पेश नहीं किए। लिहाजा चने को जब्त कर गोदाम को सील कर दिया गया था। और पूरे मामले को जांच में लिया गया था। हालांकि 5 मार्च को गोदाम मालिक अशोक गुप्ता ने चने पर मालिकाना हक जताया और कहा कि चना उसके परिचितों का है। हीरालाल ने काशी विश्वनाथ ट्रेडिंग कंपनी द्वारा चना क्रय करना बताया। लिहाजा तहसीलदार ने जांच में पाया कि चना काशी विश्वनाथ ट्रेडिंग फर्म का है, और मालिकाना हक भी हीरालाल का है।
चने के लिए जान देने पर उतारू हुए दोनों लोग
गोदाम में रखे चने की कीमत 50 लाख रुपए बताई गई है। लिहाजा चने को पाने के लिए गोदाम मालिक और व्यापारी दोनों जान देने पर उतारु हो गए। इस दौरान पुलिस भी बुलाई गई थी, लेकिन पुलिस ने भी दोनों लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। हंगामे के चलते मौके पर तमाशबीनों की अच्छी खासी भीड़ भी घंटों एकत्र रही।
चने का कब्जा दिलाने पहुंचे थे अधिकारी
 गोदाम में रखे चने का कब्जा दिलाने के लिए मंडी सचिव, पटवारी और राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे, जब गोदाम को खुलवाकर चना हीरालाल के सुपुर्द किया जा रहा था। तभी अशोक गुप्ता वहां पहुंचा और हंगामा खड़ा कर दिया। और छत में चढ़कर ट्रकों में लोड हो रहे चने के ऊपर कूद गया। हलांकि छत से कूदने पर किसी तरह का हादसा नहीं हुआ, लेकिन दोनों लोगों ने जमकर हंगामा किया।
जांच में पाया गया कि व्यापारी का है चना
जब्त चने की जांच में पाया गया था कि गोदाम में रखा चना व्यापारी हीरालाल का है। सोमवार को हीरालाल को चना सुपुर्द करने की कार्रवाई शुरु होने के पहले ही हीरालाल और गोदाम संचालक अशोक गुप्ता द्वारा जमकर हंगामा किया गया। हालांकि बाद में मामला शांत हुआ और चना हीरालाल के सुपुर्द कर दिया गया है।
- सुरेंद्र खरे, मंडी सचिव हरपालपुर
 

खबरें और भी हैं...