दैनिक भास्कर हिंदी: छेड़छाड़ करने वाले बदमाश को सबक सिखाने युवती ने किया उसका अपहरण , की पिटाई - लिया गेंगस्टर का सहारा

September 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क छतरपुर/ नौगांव । नौगांव में गुलाब शाह बाबा मजार के पास शाम 4.30 बजे मनचले गैंगस्टर को सबक सिखाने एक युवती ने अपने साथियों के साथ मिलकर मनचले से पहले तो जमकर मारपीट की, फिर भीड़ हो जाने पर हवाई फायर कर साथियों के साथ मनचले को कार में डालकर छतरपुर की ओर ले भागी। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को अपहरण और फायरिंग की सूचना दी, तब खबर फैलने से पुलिस सक्रिय हो गई। अपहरण की वारदात सामने आने पर पुलिस ने चारों ओर नाकाबंदी कर दी। तब कार छतरपुर आने की बजाय गढ़ीमलहरा, कर्री होते हुए बरकौंहा कांटी पहुंची। जहां पुलिस द्वारा सर्चिंग होने पर मनचले को कार में ही छोड़कर युवक जंगल के रास्तेे भाग खड़े हुए। वहींं देर शाम सोशल मीडिया पर युवती ने वीडियो जारी कर पूरे मामले में सफाई दी। पुलिस देर रात तक अपहरणकर्ताओं की सर्चिंग में जुटी रही। कार चालक को देर रात गिरफ्तार किया गया है। 
ये है मामला - युवती के साथी गैंगस्टर्स
नौगांव निवासी 18 वर्षीय युवती को काफी समय से छतरपुर का कुख्यात गैंगस्टर संजय मिश्रा उर्फ भूरा परेशान कर छेड़छाड़ करता था। इससे तंग आकर युवती ने परेशान होकर कई बार पुलिस को जानकारी दी, मगर पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने पर युवती बेहद परेशान रहने लगी। फिर युवती ने संजू को सबक सिखाने एक अन्य गैंग के सदस्य वसीम और दीपू नाम के युवकों से सहायता मांगी और पूरा मामला बताया। इसके बाद युवती ने भूरा को मजार पर बुलाया। इसके बाद यहां छतरपुर निवासी वसीम, दीपू कार से पहुंचे और मजार के पास संजू भूरा को पकड़ लिया। वहीं युवती को बुला लिया। युवती पल्सर से मजार के पास आई। मजार के पास ही संजू भूरा की युवकों ने भी मारपीट कर दी। तब वहां भीड़ बढ़ गई। लोगों ने मारपीट का विरोध किया, तब युवती के पक्ष के गैंगस्टर्स ने देशी कट्टे से फायरिंग कर दहशत फैलाई और संजू को कार में जबरन बैठा लिया। हालांकि देर रात पुलिस ने नाकाबंदी कर कड़ी मशक्कत के बाद कार से संजू को सकुशल बरामद कर लिया है।  प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शाम 4.30 बजे के लगभग रेड कलर की आई 20 कार क्रमांक एमपी 16 सीबी 0991 (जो छतरपुर निवासी मोहम्मद शहजाद के नाम पर है) मजार के पास रुकी। उसमें से दो युवक उतरे। उनके साथ एक पल्सर बाइक आई जिस पर एक महिला और युवक सवार था। इन चार लोगों ने टैक्सी से उतरे एक युवक के साथ पहले काफी मारपीट की। जब आसपास के लोग इक_े हो गए तब युवक और युवती ने अपना भाई बताया और आपस का मामला बताया। लेकिन लोगों ने विरोध किया तो एक युवक ने देशी कट्टेे से हवाई फायर कर दिया और युवक को कार में बैठा कर छतरपुर की ओर ले गए। महिला भी इसी कार में सवार हो गई और पल्सर बाइक से युवक भी भाग खड़े हुए। तब लोगों ने पुलिस को अपहरण की सूचना दी, इस पर नौगांव पुलिस ने तत्काल छतरपुर सूचना देकर चेक प्वाइंट पर घेराबंंदी लगवाई और कार को फॉलो किया। पुलिस को चारों ओर मैसेज हो जाने से अपहरणकर्ता कार और अपह्त युवक को उसी में छोड़ कर फरार हो गए। पुलिस को बरकौंहा कांटी के पास कार में युवक भी मिला है जिसके मुंह पर कपड़ा बांधा गया था। वहीं देर रात पुलिस ने कार चालक इमरान उर्फ वेस्टन को गिरफ्तार किया है।  
वारदात में इस्तेमाल कार की है एक अलग कहानी 
घटना में जिस लाल रंग की आई 20 कार को बरामद किया गया है उसकी भी अलग कहानी है। कार क्रमांक एमपी 16 सीबी 991 मोहम्मद शहजाद के नाम पर है। शहजाद ने बताया कि उसे राजू कबाड़ी के पैसे देने है इसलिए गाड़ी फाइनेंस कराई और किस्तें वह चुका रहा है। वहीं राजू ने बताया कि उसने अरशद को गाड़ी दे दी थी। हालांकि पुलिस गाड़ी मालिक के खिलाफ ही अभी मामला दर्ज कर रही है।
संजू भूरा का पुराना विवाद है
कुछ दिन पूर्व पठापुर रोड पर मामा के घर गए संजू भूरा पर वसीम और दीपू ने गोली चलाई थी। इसके बदले में मतवाना मुहल्ले में गणेश उत्सव के दौरान संजू भूरा ने हवाई फायर कर दहशत फैलाई थी। इसी बात में दोनों पक्षों में विवाद था। पुलिस ने इस घटना से इंकार किया था। नौगांव की युवती की मदद से इन युवकों ने संजू भूरा से पुरानी रंजिश के चलते अपहरण कर मारपीट की है।
 

खबरें और भी हैं...