comScore

Fake News: पुरस्कार ले रही महिला हैदराबाद कांड की डॉ. दिव्या है? वीडियो वायरल

Fake News: पुरस्कार ले रही महिला हैदराबाद कांड की डॉ. दिव्या है? वीडियो वायरल

डिजिटल डेस्क। फेसबुक पर इन दिनों एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में एक महिला को सम्मानित किया गया है, नजर आ रहे है। दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद दुष्कर्म पीड़िता को एक कार्यक्रम के दौरान अवॉर्ड दिया गया था। फेसबुक पर वीडियो को Vashisht Kumar Dubey ने पोस्ट किया है। कैप्शन है, 'हैदराबाद कांड में दिव्या रेड्डी का देवलोकमगन होना केवल एक डॉ. का अंत नहीं हुआ। बल्कि शासन द्वारा पुरस्कृत एक वेटेरनरी साइंटिस्ट और रिसर्चर हवस के भेट चढ़ गया। यह पूरी दुनिया के लिए महान क्षति है।'


इनके पोस्ट को 6 हजार बार देखा जा चुका हैं। वहीं 20 से ज्यादा लोग शेयर भी कर चुके हैं। वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें। 

क्या है सच?

भास्कर हिंदी ने अपनी पड़ताल में पाया कि वीडियो में दिख रही महिला हैदराबाद पीड़िता नहीं है। वीडियो में दिख रही महिला का नाम अलोला दिव्या रेड्डी है। दिव्या 'क्लिमॉम' की संस्थापक है। क्लिमॉम हैदराबाद में स्थित एक फार्म कैफे है, जो गाय के दूध के पोषक तत्वों को लोगों तक पहुंचाने का काम करती है। यह वीडियो विश्व दुग्ध दिवस 2018 का है। तब अलोला दिव्या को राष्ट्रीय गोपाल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। 


वीडियो में महिला को अपना परिचय देते हुए सुना जा सकता है। वह अपना नाम अलोला दिव्या रेड्डी और पति का नाम गौतम रेड्डी बताती है। वहीं हैदराबाद दुष्कर्म पीड़िता के शादीशुदा होने की कोई भी मीडिया रिपोर्ट नहीं है। इससे यह साफ है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा गलत है। 

कमेंट करें
KVgme