दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना की तीसरी लहर में बच्चें होंगे बीमार! इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अपनाएं ये तरीके

May 24th, 2021

डिजिटल डेस्क,दिल्ली। देशभर में कोरोना की दूसरी लहर ने सबकुछ बर्बाद कर दिया है। शिक्षा से लेकर स्वास्थ्य व्यव्स्था पूरी तरह टूट चुकी है और हेल्थ एक्सर्पट्स के अनुसार, कोरोना की तीसरी लहर में बच्चें सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। इसलिए हमें अभी से अपने बच्चों की हेल्थ का पूरा ख्याल रखना होगा। हालांकि, कई राज्यों में बच्चों के बीमार होने की खबर आने लगी है। इसलिए हम आपको आज बताएंगे कि, कैसे करें अपने बच्चों की इम्यूनिटी बूस्ट- 

हल्दी
हल्दी में एंटीबायोटिक गुण पाए जाते है और काफी फायदेमंद भी माना जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लमेटरी गुण होते हैं, जो बच्चों के इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकते हैं। साथ ही संक्रमण व रोगों से लड़ने में मजबूती प्रदान कर सकते हैं। इसलिए अगर आप अपने बच्चों की इम्युनिटी स्ट्रांग करना चाहते हैं तो, उन्हें केसर और हल्दी वाला दूध रेगुलर डाइट में जरूर शामिल करें। ये दूध तैयार करने के लिए दूध में हल्दी या केसर मिलाकर दूध को अच्छी तरह से खौला लें और उसमें थोड़ा काली मिर्च का पाउडर डालें। इस दूध का सेवन करने से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होती है और बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। हल्दी और केसर वाला दूध खांसी से भी दूर रखता है और इसमें मौजूद एंटीबायोटिक्स शरीर के फ्री रेडिकल सेल्स से लड़ते हैं जिससे इम्यून सिस्टम स्ट्रांग होता है और बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। 

आंवला
आंवला विटामिन सी का एक बेहतरीन स्त्रोत है और विटामिन सी आपके शरीर को कई चीजों से बचाता है। आपके बाल झड़ना बंद हो जाते है। साथ ही शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और देशभर में कोविड के मरीजों को विटामिन सी की गोलियां डाक्टर्स खाने की सलाह भी दे रहे है। इसलिए अपने बच्चों को विटामिन सी की भरपूर मात्रा वाले पोषक तत्व खिलाएं। बता दें कि, विटामिन सी से सर्दी-जुकाम जैसे इंफेक्शन से लड़ने में सहायता मिल सकती है। इसके अलावा आंवला स्किन, हेयर व मधुमेह के रोगियों के लिए काफी लाभकारी होता है। इसके अलावा बच्चों को फल और सब्जी जरूर खिलाएं। उसे सेब, गाजर, शकरकंद, सेम की फली, कीवी, खरबूजा, नारंगी, बरी बीन्स व स्ट्रॉबेरी देना फायदेमंद होगा। आप बच्चे को स्मूथी, जूस व पेस्ट बनाकर दे सकते हैं। इसके अलावा बच्चों खट्टे फल जैसे नारंगी, संतरा, मौसमी, नींबू, अंगूर, अमरूद व आंवला आदि देने से भी उसका इम्यून सिस्टम मजबूत होगा।

तुलसी
भारत में तुलसी को धार्मिक और मेडिकल साइंस दोनो के तहत काफी अच्छा माना गया है। इसमें औषधीय गुणों का खजाना छिपा है। इसके अंदर विटामिन ए और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाई जाती है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ गले व सांस संबंधी इंफेक्शन से लड़ने में मदद कर सकती है।इसलिए बच्चों को तुलसी के 3-4 पत्तें रोजाना खिलाएं। इससे उन्हें सर्दी-खांसी जैसी समस्या नहीं होगी। इसके अलावा बच्चों को  प्रोटीन युक्त आहार का सेवन अधिक से अधिक कराना चाहिए। प्रोटीन से एंटीबॉडीज बनते हैं, जो शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम के लिए जरूरी होता है। दालें, अंडे, मांस, सोया, मछली व मीट आदि में प्रोटीन प्रचूर मात्रा में होती है।

खबरें और भी हैं...