comScore

पीकेएल श्रीलंका में नहीं होगा : आयोजक

June 26th, 2020 10:54 IST
पीकेएल श्रीलंका में नहीं होगा : आयोजक

हाईलाइट

  • पीकेएल श्रीलंका में नहीं होगा : आयोजक

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आयोजक लीग के आठवें सीजन के आयोजन को लेकर श्रीलंका कबड्डी महासंघ के संपर्क में नहीं है। लीग के आयोजकों ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। लीग का आयोजन आमतौर पर जुलाई और अक्टूबर में होता है और मैच अलग-अलग शहरों में खेले जाते हैं। लेकिन कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन के चलते लीग के 2020 संस्करण पर काले बादल हैं।

लीग के आयोजक मशाल स्पोटर्स के प्रवक्ता ने कहा, इस समय हमारे खिलाड़ियों और अन्य हिस्सेदारों की सुरक्षा हमारे लिए सबसे पहले है और आधिकारिक नीति तथा गाइडलाइंस के साथ ही हमारे फैसले का यह मुख्य बिंदु है। उन्होंने कहा, हम लीग के आठवें सीजन को श्रीलंका में कराने को लेकर श्रीलंका कबड्डी महासंघ से संपर्क में नहीं हैं। हम जो भी करेंगे वो अधिकारियों, एकेएफआई, पीकेएल टीमों और बाकी अन्य हितधारकों के साथ मिलकर फैसला लेकर करेंगे।

उन्होंने कहा कि श्रीलंका कबड्डी महासंघ के अध्यक्ष अनुरा पाथिराना ने लीग के अधिकारियों के साथ चर्चा करने की बात को साफ तौर पर नकार दिया। बयान में कहा गया है, अनुरा ने साफ तौर पर इस बात से मना कर दिया है कि प्रो कबड्डी प्रबंधन ने लीग को श्रीलंका में आयोजित कराने को लेकर कोई बात की है और इस संबंध में उनसे संबंधित कोई बयान आया है तो वह सही नहीं है और वो अनुरा द्वारा इस मुद्दे पर कहे गए शब्दों का गलत मतलब भी हो सकता है।

कमेंट करें
08Bbp
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।